Moneycontrol » समाचार » टैक्स

जानिए टैक्स से जुड़ी अहम बातें

प्रकाशित Sat, 10, 2012 पर 14:15  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

जानिए टैक्स गुरू सुभाष लखोटिया से टैक्स से जुड़े सवालों के जवाब।


सवालः वित्त वर्ष 2012-2013 के रिटर्न के लिए आईटी विभाग से सेक्शन 143(1) इंटीमेशन ई-मेल आ रहे है। क्या है ये इंटीमेंटशन? 


सुभाष लखोटियाः वित्त वर्ष 2012-2013 के रिटर्न पर आईटी विभाग से आने वाले ई-मेल या एसएमएस से परेशान नहीं होना चाहिए। सेक्शन 143(1) के तहत आईटी विभाग से रिटर्न की प्रक्रिया पूरी होने की सूचना दी जाती है। आईटी विभाग रिटर्न या बकाए टैक्स की जानकारी सेक्शन 143(1) के तहत देता है। 


सवालः क्या माता-पिता के हेल्थ इंश्योरेंस का प्रीमियम भरने पर सेक्शन 80डी के तहत छूट ले सकते हैं?


सुभाष लखोटियाः आपको माता-पिता के हेल्थ इंश्योरेंस का प्रीमियम भरने पर सेक्शन 80डी के तहत 20,000 रुपये तक की छूट मिल सकती है।


सवालः 5 साल के लिए बैंक की सेविंग स्कीम में 80 सी के तहत निवेश किया है। इससे मिलने वाले ब्याज पर टैक्स की देनदारी कैसे होगी?


सुभाष लखोटियाः हर साल इस ब्याज को रिटर्न में दिखाना जरूरी है। स्कीम पूरी होने पर आप एक साथ ही इस रकम पर टैक्स दे सकते हैं। 


सवालः कई नौकरी पेशा लोग अपने रिटर्न में एफडी के ब्याज को नहीं दिखाते। क्या ये कदम सही है?


सुभाष लखोटियाः अगर आय, टैक्स के दायरे में हो तो बैंक एफडी का ब्याज रिटर्न में दिखाना जरूरी होता है। बैंक एफडी पर टैक्स लगता है तो फॉर्म 15जी जमा करना गलत होगा। 


सवालः बतौर एनआरई, एफडी में निवेश किया। अब भारत में हैं क्या एफडी के ब्याज पर टैक्स लगेगा और क्या एफडी रिन्यू कर सकते हैं?


सुभाष लखोटियाः आपके एफडी से मिलने वाले ब्याज पर टैक्स नहीं लगेगा। लेकिन अब आप देश में हैं तो एनआरआई एफडी रिन्यू नहीं हो सकता हैं। 


सवालः 2 पीएफ अकाउंट हैं। पीएफ से पैसा निकालना चाहते हैं। क्या अकाउंट ट्रांसफर करें? टैक्स की देनदारी कैसे होगी?


सुभाष लखोटियाः हमेशा 1 पीएफ अकाउंट रखना बेहतर होता है। अगर आपके पास 2 पीएफ अकाउंट है तो आप नई कंपनी में पीएफ अकाउंट ट्रांसफर करें। पीएफ से अभी पैसे निकालना उचित नहीं होगा क्योंकि 5 साल के पहले पीएफ से रकम निकालने पर टैक्स लगता है।  


सवालः पत्नी को पिछले साल की मैटर्निटी लीव की तनख्वाह इस साल मिलेगी। इस पर टैक्स कैसे लगेगा?


सुभाष लखोटियाः पत्नी को मिलने वाले मैटर्निटी लीव की तनख्वाह पर टैक्स लगेगा। जिस साल सैलरी मिलनी थी उसी साल टैक्स की देनदारी होगी।


सवालः पिता 22 साल पुरानी दुकान बेचना चाहते हैं। पिता पर टैक्स की देनदारी कैसे बनेगी?


सुभाष लखोटियाः दुकान एक बिजनेस संपत्ति होती है जिसे बेचने पर कैपिटल गेन टैक्स लगता है। इस संपत्ति पर हर साल डेप्रिसिएशन क्लेम किया जाता है। बिक्री कीमत से बुक वैल्यू घटाकर बची हुई रकम पर इनकम टैक्स लगेगा। अगर दूसरी दुकान खरीदते हैं तो डेप्रिसिएशन के आधार पर टैक्स बचत मुमकिन हो सकती है। 


सवालः गिफ्ट के अदान-प्रदान के वक्त टैक्स के लिहाज से किन बातों का ध्यान रखें? 


सुभाष लखोटियाः बिजनेस मैन और प्रेफेशनल किसी भी कीमत का गिफ्ट दे सकते हैं। बिजनेस के लिए दिए गए गिफ्ट पर टैक्स छूट मिलती है। गिफ्ट देने पर किसी तरह की ऊपरी सीमा नहीं है। कर्मचारी भी 5,000 रुपये तक का गिफ्ट कंपनी से ले सकते हैं। इस गिफ्ट पर टैक्स नहीं लगता और ना ही इसे भत्ता माना जाएगा। रिश्तेदारों से मिले गिफ्ट पर सेक्शन 56 के तहत कोई टैक्स नहीं लगता है। वहीं गैर-रिश्तेदारों से मिला सालाना सिर्फ 50,000 रुपये तक का गिफ्ट टैक्स फ्री होता है। 


सवालः 10 फीसदी ब्याज पर 10 साल के लिए रेकरिंग डिपॉजिट अकाउंट खोला है। इस पर टैक्स कैसे देना होगा?


सुभाष लखोटियाः सिर्फ रेकरिंग डिपॉजिट अकाउंट खोलने से टैक्स नहीं लगता है।


सवालः जमीन बेचकर रकम से एक अंडर कंस्ट्रक्शन प्रोजेक्ट में फ्लैट खरीदना चाहते हैं। क्या ऐसा करने से टैक्स बचेगा?  


सुभाष लखोटियाः आप जमीन बेचकर मिली रकम को नए फ्लैट में निवेश करें। 2 साल में फ्लैट तैयार नहीं हुआ तो टैक्स छूट नहीं मिल सकती है। फ्लैट में अगर देरी होगी तब भी आपको टैक्स अदा करना होगा।  


सवालः पिता के नाम से प्लॉट है। बेटे और पिता ने 5 लाख रुपये का ज्वाइंट लोन लिया था। टैक्स छूट कैसे मिलेगी?


सुभाष लखोटियाः अगर पिता-पुत्र दोनों टैक्स छूट चाहते है तो दोनों को फ्लॉट का मालिक बनाना होगा। बेटे को पिता से आधा प्लॉट गिफ्ट लेना होगा या खरीदना होगा। फिर दोनों को फ्लॉट के लोन पर टैक्स छूट का फायदा मिल सकता है।   


सवालः क्या केद्रीय कर्मचारियों को रीइंबर्स होने वाला 1250 रुपये ट्यूशन फीस पर टैक्स देना होता है?


सुभाष लखोटियाः ट्यूशन फीस का रीइंबर्स भत्ता माना जाता है। ट्यूशन फीस पर बतौर भत्ता टैक्स देना होता है।


सवालः सरकारी कर्मचारी कंपनी से मिले घर में रह रहा है तो क्या वो होमलोन पर टैक्स छूट ले सकता है?


सुभाष लखोटियाः कंपनी के मकान में रह रहे हैं और दूसरा घर खरीदना है तब भी होमलोन पर छूट मिलेगी। ब्याज पर 1.50 लाख रुपये और लोन रीपेमेंट पर 1 लाख रुपये तक की छूट मिल सकती है।


वीडियो देखें