Moneycontrol » समाचार » बीमा

टर्म इंश्योरेंस से जुड़े सवालों के जवाब

प्रकाशित Fri, 23, 2012 पर 15:23  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

बजाज आलियांज लाइफ के ए एस नारायणन और प्रोबस इंश्योरेंस ब्रोकर के आत्रेय भारद्वाज ने इंश्योरेंस से जुड़े कई सवालों के जवाब दिए जो आपके भी बहुत काम आ सकते हैं।


सवालः मेरे पास आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल का एलीट पेंशन प्लान 2 है। एजेंट ने कहा कि एक बार प्रीमियम देने के बाद मैच्योरिटी पर निवेश की पूरी रकम मिलेगी लेकिन इसकी फंड वैल्यू कुछ खास नहीं दिख रही है। क्या 3 साल पूरे होने के बाद इसमें से निवेश निकाल लें।


आत्रेय भारद्वाजः ये एक यूलिप पेंशन प्लान है। इसमें पहले साल एलोकेशन चार्ज 15 फीसदी है और उसके बाद कोई चार्ज नहीं है। 3 साल तक इस प्लान में बने रहें। पॉलिसी के आखिर में लॉयल्टी बोनेस मिलने के बाद सरेंडर करें। आप पीओ स्कीम, एफडी में निवेश करें।


सवालः पॉलिसी खरीदते वक्त इंश्योरेंस एजेंट से किन किन बातों को पूछना चाहिए?


ए एस नारायणनः आप ऐजेंट से पूछे कि ये पॉलिसी वन टाइम प्रीमियम पॉलिसी है या रेगुलर प्रीमियम पॉलिसी है। आपकी पॉलिसी इक्विटी मार्केट में निवेश करती है या डेट मार्केट में निवेश करती है। आप फ्री लॉक इन पीरियड में जाकर पॉलिसी वापस कर सकते हैं तो इस पर कोई चार्ज लगेगा या नहीं।


सवालः आईसीआईसीआई आईप्रू ऑप्शन, मैक्स न्यूयार्क लाइफ टर्म प्लान, बिडला सनलाइफ ड्रीम प्लान हैं। दो टर्मप्लान हैं, क्या दोनों टर्मप्लान बंद करके कोई सस्ता ऑनलाइन टर्मप्लान लेना ज्यादा बेहतर रहेगा या नहीं। साथ ही टर्म प्लान के साथ राइडर लेना चाहिए या नहीं या केवल अलग से कवर लेना चाहिए? क्या लंबी अवधि के लिए एक ही टर्म प्लान लेना चाहिए या दो अलग अलग अवधि के टर्म प्लान लेना चाहिए।


आत्रेय भारद्वाजः अगर आप दोनों टर्म प्लान बंद करके नया ऑनलाइन टर्म प्लान लेंगे तो ही सस्ता होगा। अगर ऑफलाइन टर्मप्लान लेंगे तो ये सस्ते नहीं होंगे। आपको ज्यादा कवर का टर्म इंश्योरेंस प्लान लेना चाहिए। कम उम्र में टर्म प्लान लेना बेहतर रहेगा। टर्म प्लान के साथ एक्सीडेंटल डेथ राइडर ले लें। इसकी लागत काफी कम होती है और ये काफी जरूरी राइडर है। अगर किसी दुघर्टनावश आपकी मौत हो जाती है तो ऐसे समय में ये राइडर आपके परिवार के काम आ सकता है।


ए एस नारायणनः आप पहले नई इंश्योरेंस पॉलिसी लें उसके बाद नई पॉलिसी ले लें। आप 60-65 साल की उम्र तक के प्लान लें उससे ज्यादा उम्र के प्लान लेना काफी महंगा पड़ सकता है। आप दो अलग अलग टर्म के प्लान लेने के बजाए एक ही लंबी अवधि का प्लान लें क्योंकि इसमें रिस्क कवर बढ़ जाता है। अलग अलग टर्म प्लान को लेने से इसकी प्रोसिडिंग होने में ज्यादा समय लगता है और आपके कवर की रकम कम हो जाती है।


वीडियो देखें