Moneycontrol » समाचार » बीमा

सुरक्षा के लिए इंश्योरेंस, रिटर्न के लिए निवेश

प्रकाशित Wed, 28, 2012 पर 12:10  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

अपना पैसा डॉटकॉम के सीईओ हर्ष रूंगटा का कहना है कि इंश्योरेंस और निवेश को एक साथ मिलाना बिल्कुल उचित निवेश नीति नहीं है। इंश्योरेंस आपकी सुरक्षा के लिए होता है और निवेश आपके पैसे पर रिटर्न देने के लिए होता है। कोई भी इंश्योरेंस पॉलिसी सिर्फ इसलिए ना खरीदें कि इसमें अच्छा रिटर्न मिलेगा, उसमें जरूरत पड़ने पर आपको और आपके परिवार को सुरक्षा देने की क्षमता होनी चाहिए।


सवालः बजाज आलियांज इंवेस्ट प्लस प्रीमियर पॉलिसी ली है जिसकी अवधि 25 साल है और अब तक 3 प्रीमियम भर चुका हूं। बजाज आलियांज इंवेस्ट प्लस प्रीमियर पॉलिसी से निकलना चाहता हूं, क्या करूं?


हर्ष रूंगटाः ये एक ट्रेडिशनल प्लान है और ट्रेडिशनल एनडाओमेंट पॉलिसी में 5-6 फीसदीसे ज्यादा रिटर्न नहीं मिल सकते हैं। आपकी पॉलिसी की टर्म 25 साल है और इसमें से अभी निकलने पर आपके भारी सरेंडर चार्ज देना होगा। इसके तहत जितना प्रमियम आपने भरा है उसका बहुत ही कम हिस्सा आपको वापस मिलेगा। हालांकि इस पॉलिसी को जारी रखने में ज्यादा समझदारी नहीं है। आप नुक्सान भुगतकर बाहर निकल सकते हैं। इससे आगे के लिए आपको सीख मिल जाएगी कि इंश्योरेंस और निवेश को एक साथ ना मिलाएं।


सवालः  मैं 45 साल का एक एनआरआई हूं, मुझे एक टर्म प्लान खरीदना है, किस कंपनी का खरीदूं?


हर्ष रूंगटाः आप ऑनलाइन टर्म प्लान खरीद सकते हैं क्योंकि ये सबसे सस्ते होते हैं। हालांकि एचडीएफसी क्लिक टू प्रोटेक्ट ही ऑनलाइन पर एनआरआई को इंश्योरेंस देती है। एचडीएफसी क्लिक टू प्रोटेक्ट में मैडिकल होगा इसलिए जब आप भारत में हैं तो इस पॉलिसी को लेना होगा। अगर मैडिकल नहीं होगा तो आप ऑनलाइन पॉलिसी के लिए आवेदन कर सकते हैं। नई पॉलिसी लेने से पहले बीमा कंपनी को सारी जानकारी दें। कवर आपकी आमदनी का 10-12 गुना होना चाहिए।


सवालः आईसीआईसीआई प्रू लाइफ हेल्थ सेवर दूसरी हेल्थ पॉलिसी के मुकाबले कैसी है? मां पिताजी के लिए भी पॉलिसी लेनी है।


हर्ष रूंगटाः लाइफ इंश्योरेंस कंपनी से हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी लेने से बचें। आईसीआईसीआई प्रू लाइफ हेल्थ सेवर एक इंश्योरेंस इंवेस्टमेंट पॉलिसी है। आप इंश्योरेंस को निवेश से ना मिलाएं। हैल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी अपनी युवावस्था में ले लेनी चाहिए जब आप तंदुरुस्त हों। बाद में कोई बींमारी होने पर पॉलिसी लेने पर या तो पॉलिसी मिलती नहीं हैं या फिर भारी चार्ड लगते हैं या कई बीमारियां कवर के अंतर्गत नहीं ली जाती हैं। आप अपोलो म्यूनिख ईजी हेल्थ स्टैंडर्ड पॉलिसी सभी परिवार वालों के लिए खरीदें।


सवालः एचडीएफसी पेंशन सुपर, आईसीआईसीआई लाइफ टाइम सुपर, एसबीआई लाइफ स्मार्ट यूलिप के साथ कई एलआईसी पॉलिसी हैं। क्या इन पॉलिसी में निवेश सही है या इनमें से निकल जाना चाहिए?


हर्ष रूंगटाः आपके पास जरूरत से ज्यादा इंश्योरेंस पॉलिसी है। एचडीएफसी पेंशन सुपर में 5 साल तक प्रीमियम भरें, उसके बाद सरेंडर करने के बारे में सोचें। आपके पोर्टफोलियो में तीन यूलिप हैं और यूलिप में शुरुआत में एलोकेशन चार्ज काफी ज्यादा होते हैं। आईसीआईसीआई लाइफ टाइम सुपर में भी एलोकेशन चार्ज ज्यादा हैं, इसे भी 5 साल तक रखने के बाद सरेंडर करें तो बेहतर रहेगा। एसबीआई फ्लेक्सी स्मार्ट यूलिप में भी 3 साल के बाद सरेंडर चार्ज नहीं हैं। इसे 3 साल तक रखने के बाद सरेंडर कर सकते हैं।


वीडियो देखें