Moneycontrol » समाचार » बीमा

हेल्थ इंश्योरेंस से जुड़े सवालों के हल

प्रकाशित Fri, 30, 2012 पर 10:46  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

माईइंश्योरेंसक्लब डॉटकॉम के को फाउंडर और वाइस प्रेसिडेंट मनोज आसवानी ने हेल्थ इंश्योरेंस से जुड़े कई सवालों के जवाब दिए जो आपके भी बहुत काम आ सकते हैं।


सवालः क्या फैमिली पॉलिसी को इंडीविजुएल पॉलिसी में बदल सकते हैं? क्या आगे जाकर सम एश्योर्ड बढ़ाया जा सकता है?


मनोज आसवानीः अगर आपने हर साल क्लेम नहीं किया है तो आपके नो क्लेम बोनस मिलता है। ये दो तरीकों से मिलता है-एक आपका सम एश्योर्ड बढ़ाकर और दूसरा आपका प्रीमियम घटाकर। लेकिन ये जरूरी नहीं कि हर कंपनी आपका सम एश्योर्ड बढ़ा दे।


सम एश्योर्ड की रकम बढ़ाना बीमा कंपनी पर निर्भर करता है इसलिए अगर आप सम एश्योर्ड बढ़ाना चाहते हैं तो आपको नई पॉलिसी लेनी होगी। आप फैमिली हैल्थ पॉलिसी को इंडीविजुएल पॉलिसी में बदलना चाहते हैं तो बदल सकते हैं। ग्रुप हैल्थ पॉलिसी को उसी बीमा कंपनी से इंडीविजुएल पॉलिसी में तब्दील कराएं। ग्रुप हैल्थ पॉलिसी के खत्म होने के 6 महीने के अंदर पॉलिसी बदलने की जानकारी दें।


सवालः हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी में हेल्थ उपकरणों को कवर किया जाता है?


मनोज आसवानीः ज्यादातर हेल्थ बीमा पॉलिसी हेल्थ से जुड़े उपकरणों को कवर नहीं करती हैं। बीमा कंपनियां आपके इलाज से जुड़े खर्चों, अस्पताल का खर्च, डॉक्टर की फीस आदि कवर करती हैं।


सवालः हेल्थ इंश्योरेंस लेना है, पहले फैमिली फ्लोटर लूं या इंडिविजुएल पॉलिसी लूं?


मनोज आसवानीः आप अपने लिए और अपने परिवार के लिए फैमिली फ्लोटर पॉलिसी ले सकते हैं। आप अपोलो म्यूनिख ऑप्टिमा रीस्टोर पॉलिसी, या टाटा एआईजी की हेल्थ इंश्योरेंस पॉलिसी या ओरिएंटल इंश्योरेंस मेडिक्लेम ले सकते हैं। मैक्स बूपा हार्टबीट, स्टार हेल्थ मेडिक्लासिक पॉलिसी भी ले सकते हैं। 3 लाख रुपये के कवर वाला हेल्थ इंश्योरेंस प्लान खरीद सकते हैं।


सवालः क्या टर्म प्लान के साथ क्रिटिकल इलनेस पॉलिसी लेनी चाहिए?


मनोज आसवानीः आप टर्म प्लान (जिसमें कोई राइडर ना हो) के साथ क्रिटिकल इलनेस पॉलिसी ले सकते हैं। टाटा एआईजी क्रिटिकल केयर में 11 इलनेस कवर की जाती हैं तो आप इस प्लान को देख सकते हैं। इसके साथ आईसीआईसीआई लोम्बार्ड क्रिटिकल केयर भी चुन सकते हैं। क्रिटिकल इलनेस पॉलिसी के प्रीमियम काफी कम होते हैं। इन पॉलिसी में आखिर तक प्रीमियम भरने होते हैं। इन पॉलिसी को हर साल रिन्यू करना होता है।


वीडियो देखें