Moneycontrol » समाचार » फाइनेंशियल प्लानिंग

नया पीएफ नियम: सैलेरी कम, बचत ज्यादा

प्रकाशित Tue, 11, 2012 पर 17:39  |  स्रोत : Moneycontrol.com

अब आपको प्रोविडेंड फंड में ज्यादा रकम जमा करनी होगी। हालांकि इससे आपकी बचत तो बढ़ेगी लेकिन आपके हाथ में आने वाला वेतन थोड़ा कम हो जाएगा। नए नियम के मुताबिक बेसिक सैलेरी और महंगाई भत्ते के अलावा बाकी भत्ते भी प्रोविडेंट फंड के आकलन में जोड़े जाएंगे।


जैसे अगर आपको बेसिक सैलरी और महंगाई भत्ता मिलाकर 30000 रुपये है, तो फिलहाल आपके पीएफ में कुल 3600 रुपये जाते हैं। लेकिन अगर आपको दूसरे भत्ते कुल मिलाकर 10000 रुपये मिलते हैं तो अब आपके पीएफ कुल 4800 रुपये जाएंगे।


अगर आपकी सैलेरी का आकलन कॉस्ट टू कंपनी के आधार पर होता है तो ये बढ़ी हुई पूरी रकम यानी 1200 रुपये आपकी ही सैलेरी से जाएगी। क्योंकि ऐसे मामले पीएफ में कंपनी का हिस्सा भी कर्मचारी की सैलरी से जाता है। लेकिन अगर सीटीसी सिस्टम नहीं है और पीएफ में कंपनी अपना हिस्सा खुद अपने खाते से देती है तो नए नियम के तहत कंपनी पर भी बोझ बढ़ने वाला है।


लेकिन इनकम टैक्स के लिहाज से देखें तो आपको पीएफ के अलावा दूसरे विकल्पों में अब कम रकम जमा करने से भी काम चल जाएगा। यानी अब आप अपना खर्चा और बचत इन नई व्यवस्था के हिसाब से करेंगे तो ज्यादा बेहतर होगा।


वीडियो देखें