Moneycontrol » समाचार » बजट प्रतिक्रियाएं

कैसा रहेगा बैंकिंग सेक्टर पर बजट का असर

प्रकाशित Fri, 01, 2013 पर 12:59  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

करूर वैश्य बैंक के सीईओ और एमडी के वेंकटरमण का कहना है कि बजट ऐलानों का बैंकिंग सेक्टर पर ज्यादा खराब असर नहीं देखा जाएगा। बजट में वित्तीय घाटे को नियंत्रित करने की पहल की गई है जिसका बैंकों पर भी अच्छा असर देखा जाएगा।


सरकार की उधारी बढ़ने से बैंकों के ऊपर ज्यादा दबाव आने की आशंका नहीं है क्योंकि बैंकों के पास पर्याप्त पूंजी है। सरकार की उधारी का आंकड़ा ज्यादा है लेकिन सिस्टम में पूंजी की कमी नहीं है।


निजी बैंकों को किसानों के लोन पर ब्याज छूट देने की मंजूरी सकारात्मक फैसला है। किसानों के कर्ज के ब्याज पर टैक्स छूट जारी रहने से बैंकों पर कितना असर पडे़गा इसका आकलन किया जा रहा है।


वित्त वर्ष 2014 के लिए ग्रॉस सरकारी उधारी 6.29 लाख करोड़ रुपये रहने का अनुमान दिया गया है। वहीं नेट सरकारी इधारी 4.84 लाख करोड़ रुपये रहने का अनुमान दिया गया है।


वित्त वर्ष 2014 का प्लान एक्सपेंडिचर वित्त वर्ष 2013 से 29.4 फीसदी ज्यादा रहेगा। किसानों के लिए ब्याज छूट को जारी रखा गया है। स्कीम के दायरे में निजी बैंकों को भी शामिल किया गया है।


वित्त वर्ष 2014 के लिए सरकारी बैंकों में 14,000 करोड़ रुपये की सरकारी पूंजी डाली जाएगी। बजट में बैंकों की हर ब्रांच में एटीएम जल्द लगाने का प्रस्ताव है।


वीडियो देखें