Moneycontrol » समाचार » फाइनेंशियल प्लानिंग

फाइनेंशियल प्लानिंग से जुडे सवाल-जवाब

प्रकाशित Sat, 27, 2013 पर 12:48  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

निवेश लक्ष्यों को पूरा करने के लिए सही फाइनेंशियल प्लानिंग होना बहुत जरूरी है लेकिन सही जानकारी के अभाव में कई बार ये अधूरी रह जाती है। आपकी फाइनेंशियल प्लानिंग से जुड़ी ऐसी ही समस्याओं पर जानेंगे वाइजइंवेस्ट एडवाइजर्स के सीईओ हेमंत रुस्तोगी के सुझाव। 


सवाल : मेरी उम्र 41 साल है और मासिक आमदनी 43,000 रुपये है। और मासिक निवेश 20,000 रुपये है। अगले 2-3 साल में 5-6 लाख रुपये की गाड़ी खरीदनी है। 10 साल में 15 लाख रुपये बेटी की पढ़ाई के लिए, 20 साल में 25 लाख रुपये बेटी की शादी के लिए और 14 साल में रिटायरमेंट के समय मासिक 20,000 रुपये का लक्ष्य है।


मेरे पास 4 एलआईसी पॉलिसी और 1 बिड़ला सनलाइफ क्लासिक चाइल्ड प्लान है। मैं हर महीने बैंक आरडी में 2000 रुपये, एचडीएफसी टॉप 200 में 1000 रुपये, एचडीएफसी मिडकैप ऑपर्च्यूनिटीज में 1000 रुपये, एचडीएफसी गोल्ड फंड में 1000 रुपये और पीपीएफ में 1 लाख रुपये निवेश करता हूं।


क्या लक्ष्य को पूरा करने के लिए प्लानिंग में क्या बदलाव करने की जरूरत है? कितने कवर का टर्म प्लान लेने की जरूरत है? बिड़ला सनलाइफ चाइल्ड प्लान से बेटी की पढ़ाई का खर्चा निकलेगा या नहीं? परिवार के लिए कौन सा हेल्थ प्लान लेना चाहिए?


हेमंत रुस्तोगी : आपके पूरे निवेश का 62 फीसदी हिस्सा इंश्योरेंस प्रीमियम में लगा है। लाइफ इंश्योरेंस के लिए आपके पास पर्याप्त कवर नहीं है। आपको अपने इंश्योरेंस पोर्टफोलियो में कई बदलाव करने की जरूरत है। आपको सबसे पहले 50 लाख रुपये तक का टर्म प्लान लेना चाहिए। टर्म प्लान के लिए आपको हर साल के हिसाब से करीब 17,000 रुपये का निवेश करना होगा। टर्म प्लान में आईसीआईसीआई प्रू आई केयर, एचडीएफसी क्लिक टू प्रोटेक्ट ये अच्छे विकल्प हैं।


3 साल में 5-6 लाख रुपये जोड़ने के लिए आपको हर महीने 15,000 रुपये का निवेश करना होगा। बेटी की पढ़ाई के लिए 10 साल में 15 लाख रुपये जुटाने के लिए हर महीने 7,000 रुपये निवेश करने होंगे। 20 साल में 25 लाख रुपये का लक्ष्य हासिल करने के लिए हर महीने 3,000 रुपये और रिटायरमेंट के समय 50 लाख रुपये जोड़ने के लिए हर महीने 12,000 रुपये का निवेश करना होगा। 


आप एचडीएफसी टॉप 200, एचडीएफसी गोल्ड और एचडीएफसी मिडकैप अपॉर्च्युनिटीज फंड में अपना निवेश जारी रख सकते हैं। आरडी में निवेश की गई रकम को आप रिलायंस इक्विटी अपॉर्च्युनिटीज फंड में डाल दें। आप अपने परिवार के लिए अपोलो म्युनिक ऑप्टिमा रीस्टोर या टाटा एआईजी मेडिप्राइम की फैमिली फ्लोटर हेल्थ पॉलिसी देख सकते हैं।        


सवाल : पत्नी को रिटायरमेंट से 30 लाख रुपये मिले हैं। 25 लाख रुपये निवेश करना है जिससे हर महीने 15,000 रुपये आमदनी हो सकें। कहां निवेश करें?  


हेमंत रुस्तोगी : आपको अपने पोर्टफोलियो मे ट्रेडिशनल इंवेस्टमेंट फंड के साथ मार्केट लिंक्ड प्रोडक्ट्स भी रखने चाहिए। हर महीने 15,000 रुपये का लक्ष्य पूरा करने के लिए आप 15 लाख रुपये सीनियर सिटीजन सेविंग्स स्कीम में लगाएं। सीनियर सिटीजन सेविंग्स स्कीम में आपको करीब 9.2 फीसदी ब्याज दर मिलेगा।

4.5 लाख रुपये आप पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम में लगाएं। पोस्ट ऑफिस मंथली इनकम स्कीम में आपको 8.4 फीसदी ब्याज दर मिलेगा। बाकी 5.5 लाख रुपये आप म्यूचुअल फंड में एमआईपी के जरिए निवेश करें और हर 5 साल बाद अपने पोर्टफोलियो की समीक्षा करें।     


सवाल : मेरी उम्र 30 साल है और मासिक आमदनी 77,000 रुपये है। हर साल 2-3 लाख रुपये तक का इंसेटिव भी मिलता है।
घर का मासिक खर्च 12,000 रुपये है। मैं हर महीने लोन की ईएमआई 20,000 रुपये और किराया 6,000 रुपये देता हूं। मेरा एमरजेंसी फंड करीब 1 लाख रुपये का है।


मैं हर महीने 28,000 रुपये का निवेश करता हूं। डेली कलेक्शन रूरल सेविंग्स अकाउंट मे 700 रुपये, एचडीएफसी टॉप 200 में हर महीने 3000 रुपये, डीएसपी बीआर के 2 फंड्स में 4000 रुपये निवेश करता हूं।


इसके अलावा मेरे पास एलआईसी की 25 साल की पॉलिसी है, टाटा एआईजी का एक्सीडेंट इंश्योरेंस और कंपनी की तरफ से मेडिकल इंश्योरेंस प्लान है। बच्चों की पढ़ाई के लिए 20 साल में 50 लाख रुपये और 40 साल की उम्र तक 3 करोड़ रुपये तक की प्रॉपर्टी खरीदने का लक्ष्य है। क्या इस निवेश से लक्ष्य पूरे होंगे? 


हेमंत रुस्तोगी : आपको सभी लक्ष्यों को पूरा करने के लिए अलग-अलग जगह निवेश करना जरूरी है। सिर्फ रियल एस्टेट में निवेश करने से आपके सभी लक्ष्य हासिल नहीं होंगे। आप इक्विटी, डेट गोल्ड और रियल एस्टेट में अपने निवेश का बंटवारा करें। बच्चों की पढ़ाई के लिए आपको डायवर्सिफाइड इक्विटी फंड में एसआईपी करनी चाहिए।


आपको डीएसपी बीआर फंड, आईसीआईसीआई फोकस्ड ब्ल्यूचिप फंड, रिलायंस इक्विटी अपॉर्च्युनिटीज फंड से निकल जाना चाहिए और अपने पोर्टफोलियो में टर्म प्लान शामिल करना चाहिए। हेल्थ इंश्योरेंस में 3 लाख रुपये का कवर पर्याप्त नहीं है इसलिए आपको कवर बढ़ाने की जरूरत है। साथ ही 1 लाख रुपये का इमर्जेंसी फंड काफी नहीं है इसे भी बढ़ाकर 2.5 लाख रुपये करें।        


वीडियो देखें