Moneycontrol » समाचार » टैक्स

टैक्स गुरु से जानें टैक्स बचाने के बढ़िया तरीके

प्रकाशित Sat, 04, 2013 पर 15:01  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

टैक्स बचाने के लिए सही जानकारी होना बहुत जरूरी होता है। टैक्स गुरु सुभाष लखोटिया ने टैक्स से जुड़े कई सवालों के जवाब दिए जो आपके भी बहुत काम आ सकते हैं।


सवालः अपनी जमीन बिल्डर को फ्लैट कंस्ट्रक्शन के लिए दी है। बदले में 3 फ्लैट मिलेंगे, क्या इस पर कैपिटल गेन टैक्स लगेगा?


सुभाष लखोटियाः घर बनाने के लिए दी गई प्रॉपर्टी की कीमत पता करें और बने हुए फ्लैट की कीमत की जानकारी लें। फ्लैट की कीमत को नई प्रॉपर्टी में निवेश माना जाएगा, आप पर कैपिटल गेन टैक्स नहीं लगेगा क्योंकि आपने पुरानी प्रॉपर्टी बेचकर नई प्रॉपर्टी में निवेश किया है।


सवालः क्या फ्रीलान्सर का भी टीडीएस कटता है?


सुभाष लखोटियाः आईटी कानून के नियम 194जे के तहत प्रोफेशनल टैक्स पर टीडीएस कटेगा। 30,000 से ज्यादा के पेमेंट पर 10 फीसदी के हिसाब से टीडीएस कटेगा।


सवालः एफडी की मियाद खत्म होने के बाद इसे रिन्यू किया, लेकिन बैंक ने एफडी पर मिले ब्याज पर टैक्स काट लिया है, अब क्या करना चाहिए?


सुभाष लखोटियाः एफडी से मिले ब्याज पर बैंक टीडीएस काट सकता है। आप टैक्स रिटर्न भरें और रिफंड मिले तो इसका फायदा उठाएं।


सवालः क्या गुजारा भत्ता के पैसे पर टैक्स छूट मिलेगी?


सुभाष लखोटियाः गुजारा भत्ता के पैसे पर टैक्स छूट नहीं मिलेगी


सवालः 2006 में एक फ्लैट खरीदा था और अब इस फ्लैट का लोन चुका दिया है। क्या पत्नी को ये फ्लैट गिफ्ट कर सकते हैं? क्या फ्लैट से मिलने वाला किराया पत्नी की आमदनी होगी?


सुभाष लखोटियाः अगर आपने अपनी पत्ती को फ्लैट गिफ्ट दिया और इससे किराए की आय हुई तो आयकर की धारा 64 के तहत क्लबिंग ऑप इंकम का प्रावधान लगेगा। पत्नि को गिफ्ट से हुई आमदनी पति की मानी जाएगी। पत्नी को प्रॉपर्टी गिफ्ट करने पर टैक्स छूट नहीं मिलेगी।


सवालः अपनी और अपनी बेटी के नाम पर पीपीएफ अकाउंट लिया है। दोनों ही अकाउंट में एक ही पैन नंबर दिया है। क्या दोनों अकाउंट में सालाना 1 लाख रुपये जमा कर सकते हैं?


सुभाष लखोटियाः अगर आपकी बेटी माइनर है तो आप अपने और बेटी के नाम में सालाना 1 लाख रुपये तक का पीपीएफ में निवेश कर सकते हैं। वहीं अगर बेटी बालिग है तो अलग अलग अकाउंट में 1 लाख रुपये का निवेश कर सकते हैं।


सवालः 2 साल से ई-रिटर्न फाइल कर रहे हैं। पैन कार्ड में पुराना पता लिखा है, आयकर विभाग कोई नोटिस भेजेगा तो किस पते पर आएगा और इसे बदलवाया कैसे जा सकता है?


सुभाष लखोटियाः ई रिटर्न भरते वक्त पैन कार्ड के पते पर नोटिस भेजा जाता है। नए पते की जानकारी आयकर विभाग को पत्र लिखकर दे सकते हैं।


सवालः कंपनी ने टैक्स नहीं काटा है, क्या तब भी फॉर्म 16 मांग सकते हैं?


सुभाष लखोटियाः टैक्स नहीं कटा है तब भी फॉर्म 16 मांग सकते हैं। फॉर्म 16 में इन्कम और टैक्स का पूरा ब्यौरा होता है। टैक्स नहीं कटा है तो टैक्स पेड के कॉलम में इसकी जानकारी होगी। कंपनी से फॉर्म 16 मांगना चाहिए क्योंकि ये आगे चलकर होमलोन के लिए मददगार साबित होगा।


सवालः पिता के साथ म्यूचुअल फंड के ज्वाइंट होल्डर हैं, पिता ने म्यूचुअल फंड खरीदें हैं, टैक्स की देनदारी कैसे होगी?


सुभाष लखोटियाः म्यूचुअल फंड में निवेश पिता ने किया है तो ये निवेश उन्हीं का माना जाएगा। ज्वाइंट होल्डर को टैक्स नहीं देना होगा।


सवालः अपनी मां के साथ एफडी करना चाहते हैं, वरिष्ठ नागरिक के साथ ज्वाइंट एफडी करने पर टैक्स की देनदारी कैसे बनेगी?


सुभाष लखोटियाः मां के साथ के ज्वाइंट एफडी पर टैक्स छूट नहीं मिलेगी। एफडी से मिले ब्याज पर टैक्स देना होगा। एफडी में निवेश के लिए अपनी मां को पैसे गिफ्ट करें। अगर मां एफडी में निवेश करती है और उसमें दूसरा नाम आपका हो तो मां के एफडी के ब्याज पर टैक्स नहीं देना होगा।


सवालः एनआरई डिपॉजिट पर ब्याज मिलता है, साथ ही शेयर से शॉर्ट टर्म मुनाफा भी मिलता है, क्या आईटी रिटर्न भरना जरूरी है?


सुभाष लखोटियाः शॉर्ट टर्म गेन पर 15 फीसदी की दर से टैक्स कटता है। टीडीएस कटने पर भी रिटर्न भरना जरूरी है। छूट की सीमा के ऊपर की आमदनी पर ही टैक्स कटेगा और आपको इसके लिए इन्कम टैक्स रिटर्न भरना होगा।


वीडियो देखें