टैक्स गुरु: कैसे करें टैक्स की उलझन दूर -
Moneycontrol » समाचार » टैक्स

टैक्स गुरु: कैसे करें टैक्स की उलझन दूर

प्रकाशित Sat, 08, 2013 पर 14:46  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

आइए जानते हैं टैक्स अदा करने में आने वाली दिक्कतों पर टैक्स गुरु सुभाष लखोटिया की टिप्स।


सवाल : अगर किसी को वित्त वर्ष 2013-14 में अच्छा-खासा कैपिटल गेन्स हुआ हो और वो इसे दूर रेसिडेंशियल प्रॉपर्टी में निवेश करता है तो क्या तब भी कैपिटल गेन्स बचेगा? 


सुभाष लखोटिया : करदाता कैपिटल गेन्स का लाभ केवल 1 प्रॉपर्टी पर ले सकते हैं। 2 प्रॉपर्टी पर इसका फायदा नहीं मिलेगा।


प्रॉपर्टी पर लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन्स पर इंडेक्शन के बाद 20 फीसदी टैक्स लगता है। एलटीसीजी पर बिना इंडेक्शन 10 फीसदी टैक्स का नियम प्रॉपर्टी पर लागू नहीं होगा। बल्कि म्यूचुअल फंड फंड, लिस्टेड सिक्योरिटीज और जीरो कूपन बॉन्ड पर लागू होगा। 


सवाल : ज्वाइंट फैमिली में तीन एचयूएफ अकाउंट हैं, इन एचयूएफ के बीच गिफ्ट का लेन-देन कैसे होगा?


सुभाष लखोटिया : एचयूएफ यानि हिंदू अनडिवाइडेड फैमिली। आईटी एक्ट के सेक्शन 56 के तहत एचयूएफ को सदस्यों से मिलने वाले गिफ्ट की कोई ऊपरी सीमा नहीं है। सेक्शन 64 के तहत एचयूएफ के गिफ्ट लेने पर क्लबिंग प्रावधान लागू होगा। इसलिए एचयूएफ के नाम पर गिफ्ट नहीं लेना बेहतर होगा।   


सवाल : कंपनी से 10 साल पहले विदेशी कंपनी के शेयर मिलें, साथ ही अपनी कंपनी के शेयर खरीदकर 8-10 साल तक रखना चाहते हैं। लेकिन क्या ये शेयर बेचने पर टैक्स देना पड़ेगा? 


सुभाष लखोटिया : 1 साल से ज्यादा शेयर को रखने और एसटीटी देने पर कोई कैपिटल गेन्स टैक्स नहीं लगेगा। लेकिन विदेशी कंपनी के शेयर बेचने पर एसटीटी भुगतान का प्रावधान नहीं है। इसलिए विदेशी कंपनी के शेयर बेचने से हुआ फायदा लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन्स कहलाएगा। आपको कॉस्ट इन्फ्लेशन इंडेक्स का फायदा मिलेगा, लेकिन 20 फीसदी की दर से टैक्स देना होगा। 


सवाल : पीएफ और पीपीएफ पर टैक्स के क्या नियम है?


सुभाष लखोटिया : किसी कंपनी में 5 साल या उससे ज्यादा काम करने के बाद पीएफ से पैसे निकालने पर टैक्स नहीं लगता है। लेकिन अगर सिर्फ 1 साल काम करने के बाद पीएफ से पैसे निकाले जाते हैं तो टैक्स लग सकता है। इसलिए बेहतर होगा आप नई नौकरी की जगह अपना पीएफ ट्रांसफर कर लें। 


करदाता अपने पीपीएफ अकाउंट के अलावा अपने नाबालिग बच्चे के लिए भी अलग से पीपीएफ अकाउंट खोल सकते हैं। लेकिन आपके और बच्चे दोंनों के अकाउंट में मिलाकर 1 लाख रुपये से ज्यादा निवेश नहीं होना चाहिए। 80 सी के तहत नाबालिग बच्चे के नाम पर पीपीएफ अकाउंट में निवेश पर भी टैक्स छूट मिलती है।   
 
सवाल : बचत खाते के ब्याज पर 10,000 रुपये की छूट हर व्यक्ति के लिए है। चाहे उसके कितने भी बैंक अकाउंट हों?


सुभाष लखोटिया : बैंक बचत खाते के 10,000 रुपये तक के ब्याज पर छूट सभी करदाता के लिए है। लेकिन करदाता के सभी अकाउंट मिलाकर मिलने वाले ब्याज पर 10,000 रुपये की कुल छूट है। 


सवाल : फॉर्म 15जी, 15एच क्या है और करदाता इस फॉर्म को कब भर सकते हैं?  


सुभाष लखोटिया : सालाना 10,000 रुपये से ज्यादा ब्याज आय होने पर बैंक टीडीएस काटता है और बैंक यह टीडीएस ना काटें इसलिए 15जी, 15एच फॉर्म को बैंकों में जमा किया जाता है। 60 साल से कम उम्र वालों के लिए फॉर्म 15जी होता है और 60 साल से ज्यादा उम्र वालों के लिए 15एच होता है।


सालाना ब्याज 2 लाख रुपये से ज्यादा ना हों इसलिए करदाता एक से ज्यादा बैंक में भी एफडी रख सकते है। 2 लाख रुपये से कम ब्याज होने पर करदाता बैंक में फॉर्म 15जी भरकर टीडीएस कटने से बच सकते हैं। 


सवाल : दोस्त की पत्नी ने गुजारा भत्ते के लिए 25 लाख रुपये मांगे है, ये कैसे सुनिश्चित करें कि इस पर सही टैक्स दे रहे हैं या नहीं?


सुभाष लखोटिया : लेन-देन में सिर्फ चेक का ही प्रयोग करें ताकि भविष्य में कोई दिक्कत ना हों। कैश ट्रांजेक्शन बिलकुल ना करें।


सवाल : पुश्तैनी घर बच्चों के नाम पर करना चाहते हैं, सभी अपना शेयर बेचकर कैपिटल गेन्स बॉन्ड में निवेश करें तो क्या टैक्स लगेगा? 


सुभाष लखोटिया : आप अपने बच्चों को प्रॉपर्टी गिफ्ट कर सकती है। हर व्यक्ति प्रॉपर्टी में अपने शेयर बेचकर उसका निवेश कैपिटल गेन बॉन्ड में कर सकता हैं। लेकिन साथ ही गिफ्ट डीड रजिस्टर करना और स्टैम्प ड्यूटी चुकाना जरूरी है। कैपिटल गेन बॉन्ड में निवेश करने पर एलटीसीजी टैक्स बच सकता है।
 
सवाल : हम फ्रांस में 1 साल तक थे, बेटा वहीं पर बीमार पड़ गया, क्या फ्रांस में हुए मेडिकल खर्च पर भारत में टैक्स छूट मिलेगी? 


सुभाष लखोटिया : इनकम टैक्स कानून के तहत नियमित मेडिकल खर्च के लिए टैक्स छूट का प्रावधान नहीं है।


सवाल : क्या नाबालिक बच्चे के लिए बेनिफिशयरी ट्रस्ट खोल सकते हैं? अगर हां, तो क्या हम इसे गिफ्ट दे, क्या इस ट्रस्ट से हुई इनकम हमारी इनकम में जुड़ेगी?    


सुभाष लखोटिया : करदाता अपने नाबलिग बच्चे के लिए बेनिफिशयरी ट्रस्ट खोल सकते हैं। ट्रस्ट में एकमुश्त रकम डाल सकते हैं। ट्रस्ट से हुई इनकम आपकी इनक्म में नहीं जुड़ेगी। लेकिन ट्रस्ट डीड बनाने में आप पूरी सावधानी बरतें और ट्रस्ट डीड में ये जरूर लिखें कि ट्रस्ट की इनकम का इस्तेमाल तब तक नहीं होगा, जब तक बच्चा नाबालिग है। 


सवाल : मैं 40 फीसदी से ज्यादा विकलांग हूं, साथ पत्नी भी मुझ पर आश्रित हैं। क्या 80डीडी और 60यू के तहत टैक्स छूट मिलेगी?


सुभाष लखोटिया : अगर पती-पत्नी दोनों भी विकलांग है तो 80डीडी के तहत टैक्स छूट मिलेगी।
साथ ही आपको धारा 80 यू के तहत टैक्स छूट मिल सकती है।


सवाल : पत्नी के साथ ज्वाइंट होम लोन लिया, क्या मैं और मेरी पत्नी दोनों को डेढ़-डेढ़ लाख रुपये का टैक्स छूट मिलेगा? 


सुभाष लखोटिया : पत्नी के साथ ज्वाइंट होम लोन लिया तो आप दोनों को डेढ़-डेढ़ लाख रुपये का टैक्स छूट मिल सकता है।


सवाल : कंपनी कार के लिए साल 63,600 रुपये देती है। क्या अतिरिक्त खर्च के लिए टैक्स छूट मिलेगी?


सुभाष लखोटिया : कार पर हुए खर्च पर आपको टैक्स छूट नहीं मिलेगी।


वीडियो देखें