Moneycontrol » समाचार » फाइनेंशियल प्लानिंग

बाजार की मंदी में कैसी हो फाइनेंशियल प्लानिंग

प्रकाशित Sat, 20, 2013 पर 12:16  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

बाजार में मंदी का जो माहौल चल रहा है उसमें निवेश करना और पैसे बचाना एक मुश्किल काम है। आज हम योर मनी की अपनी खास सीरिज में जानेंगे कि एफडी में कैसे बचाएं पैसे और कहां करें अपने पैसे की सुरक्षा। फाइनेंशियल प्लानर अर्णव पंड्या ने एफडी से जुड़ी काफी सारी जानकारी दी जो आपके भी बहुत काम आ सकती है। साथ ही फाइनेंशइयल प्लानिंग पर आपके सवालों के जवाब देंगे ऑप्टिमा मनी मैनेजर्स के पंकज मठपाल।


एफडी निवेश के लिए बेहतरीन विकल्प है बशर्ते कुछ खास बातों का ख्याल रखा जाए। सबसे पहले जब आप एफडी करने जाएं तो देखें कि कौनसा बैंक आपको सबसे अच्छा ब्याज दे रहा है। अलग अलग बैंकों की ब्याज दर पता करें और जहां सबसे अच्छा रेट मिल रहा हो वहीं एफडी करें। थोड़ी रिसर्च से 1 फीसदी तक ज्यादा ब्याज मिल सकता है।


आप पहले से ही तय कर लें कि आपको कितने समय के लिए एफडी करनी है और इसी के मुताबिक एफडी होल्ड करें। अगर आपने एफडी डिपॉजिट की समय सीमा तय कर ली और एफडी को बीच में तोड़ा आपको पेनल्टी लग सकती है।


बैंक 555 दिन या 777 दिन जैसे स्पेशल पीरियड एफडी भी देते हैं। स्पेशल एफडी पर बैंक ज्यादा ब्याज देते हैं।


अगर आप मौजूदा एफडी तोड़कर कहीं और एफडी करना चाहते हैं तो पहले देखें कि आपकी एफडी के कितने दिन बचे हैं। जांच करें कि दूसर बैंक में जाने पर आपको कितना एडीशनल बेनेफिट मिलेगा और ये एफडी तोड़ने पर लगने वाली पेनल्टी से ज्यादा है या नहीं। साथ ही एफडी मैच्योर होने की तिथि भी याद रखें। अगर एफडी मैच्योर हो रही है तो उससे पैसे निकाल लें। बैंक एफडी मैच्योर होने पर उसे अपने आप रिन्यू कर देते हैं।


सवालः कुल आमदनी 1.4 लाख रुपये हर माह है। 33,500 रुपये और 10,000 रुपये की 2 होम लोन ईएमआई चल रही हैं। लोन बढ़ने पर दूसरी होम लोन ईएमआई बढ़ेगी। कार लोन की ईएमआई 8500 रुपये है जो मई 2014 तक चलेगी। घर का मासिक खर्च 50,000 रुपये है। 2.5 लाख रुपये का इमरजेंसी फंड बनाया है, 8000 रुपये और 2000 रुपये की 2 आरडी हैं। एमएफ में निवेश की वैल्यू 2 लाख रुपये है और 2 लाख रुपये के शेयर हैं। एसबीआई इमर्जिंग बिजनेस फंड में 2000 रुपये की एसआईपी की है। इंश्योरेंस में कंपनी का हेल्थ और लाइफ कवर है। पति के पास एलआईसी की 4 पॉलिसी हैं, कवर करीब 5 लाख रुपये हैं जिसका सालाना प्रीमियम 35,000 रुपये है। जल्द से जल्द होम लोन चुकाना लक्ष्य है। दिल्ली में 2 करोड़ रुपये का घर लेना है और बेटे की पढ़ाई पति के लिए टर्म इंश्योरेंस के लिए रकम जुटानी है। रिटायररमेंट के बाद मौजूदा लाइफस्टाइल जीने के लिए कहां और कितना निवेश करना चाहिए? क्या कोई पेंशन प्लान लेना ठीक होगा? क्या होम लोन प्रीपेमेंट में समझदारी है? दिल्ली में 2 करोड़ रुपये के घर की कीमत 5 साल बाद क्या हो सकती है?  घर खरीदने के लिए पैसे कैसे जुटाऊं?


पंकज मठपालः मौजूदा खर्चों के हिसाब से रिटायरमेंट के बाद 2 लाख रुपये हर माह की जरूरत होगी। 7 फीसदी अनुमानित महंगाई के हिसाब से 2 लाख रुपय् हर माह की आय के लिए 6 करोड़ रुपये जुटाने होंगे। इसके लिए 21,000 रुपये हर माह लगाएं और निवेश सालाना 10 फीसदी बढ़ाएं। इस तरह के निवेश पर 12 फीसदी अनुमानित रिटर्न के हिसाब से 20 साल में 4 करोड़ रुपये जुटेंगे।


आप पेंशन प्लान न खरीदें क्योंकि इसमें कई तरह के चार्ज लगते हैं। पेंशन प्लान के बजाए म्यूचुअल फंड में पैसा लगाएं। टर्म प्लान के लिए एचडीएफसी क्लिक टू प्रोटेक्ट टर्म प्लान लें।


होम लोन फोरक्लोज करने की सलाह दी जा रही है। प्रॉपर्टी के दाम सालाना 12 फीसदी बढ़े तो 2 करोड़ रुपये के घर की कीमत 5 साल बाद 3.52 करोड़ रुपये हो जाएगी। 3.5 करोड़ रुपये के घर के डाउन पेमेंट के लिए 70 लाख रुपये जुटाने होंगे। नया घर खरीदने के पहले मौजूदा होम लोन खत्म करना होगा। आप मौजूदा घर बेचकर ही नया घर खरीदें।


बेटे की पढ़ाई के लिए अभी 15 लाख रुपये चाहिए तो 17 साल बाद 76 लाख रुपये की जरूरत होगी। ये 10 फीसदी अनुमानित महंगाई के हिसाब से लगाया गया है।


आप म्यूचुअल फंड में एसआईपी के लिए आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल फोकस्ड ब्लूचिप, एडेलवाइस डाइवर्सिफाइड ग्रोथ इक्विटी टॉप 100, एसबीआई इमर्जिंग बिजनेस और आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल डायनामिक बॉन्ड फंड में निवेश कर सकती हैं।


सवालः सैलरी 70,000 रुपये है, मां की पेंशन 10,000 रुपये है और घर का रेंट 20,000 रुपये मिलता है। कुल कमाई 1 लाखरुपये है और घर का मासिक खर्च 35,000 रुपये है। दो बच्चे हैं। पहले बच्चे की पढाई के लिए 2023 में 6 लाख रुपये, दूसरे बच्चे की पढाई के लिए 2027 में 7 लाख रुपये, पहले बच्चे की शादी के लिए 2028 में 1.5 लाख रुपये, दूसरे बच्चे की शादी के लिए 2033 में 1.5 लाख रुपये, रिटायरमेंट का कोई लक्ष्य नहीं बनाया है और हर साल छुट्टियों के लिए 40,000 रुपये की जरूरत होगी। कुछ म्यूचुअल फंड्स में पैसे डाल रहा हूं और हर साल निवेश 30-50 फीसदी बढ़ाता हूं। 3 साल का इमरजेंसी फंड है और पोस्ट ऑफिस में 30,000 रुपये हैं। बैंक एफडी 1.40 लाख रुपये की है। 10,000 रुपये की बैंक आरडी और पीपीएफ में 1.85 लाख रुपये हैं जिसके तहत सालाना 25,000 रुपये का निवेश कर रहा हूं। मेरी फाइनेंशियल प्लानिंग कैसी होनी चाहिए?


पंकज मठपालः आप अपने लक्ष्य बनाते वक्त महंगाई का खयाल रखें। अभी बच्चे की पढ़ाई के लिए 6 लाख रुपये चाहिए तो 2023 में 15.56 लाख रुपये की जरूरत होगी। वहीं 14 साल बाद 7 लाख के बजाए 29.24 लाख रुपये चाहिए होंगे। आप रिटायरमेंट की रकम मौजूदा खर्चों के हिसाब से तय करें। रिटायरमेंट का लक्ष्य कम से कम 3.5-4 करोड़ रुपये रखें। आपके पोर्टफोलियो में सभी फंड अच्छे हैं और इनमें एसआईपी की रकम हर साल बढ़ाते रहें। अपने पोर्टफोलियो में एक बॉन्ड फंड जोड़ें। इसके लिए आईसीआईसीआई डायनामिक बॉन्ड फंड में निवेश कर सकते हैं।


वीडियो देखें