योर मनी: मंदी से न डरें, बने स्मार्ट इंवेस्टर -
Moneycontrol » समाचार » निवेश

योर मनी: मंदी से न डरें, बने स्मार्ट इंवेस्टर

प्रकाशित Sat, 27, 2013 पर 14:54  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

मंदी के इस माहौल में एक आम निवेशक शेयर बाजार से डरा हुआ है। इक्विटी म्यूचुअल फंड में पैसा लगाने वाले भी निगेटिव रिटर्न से परेशान हैं। इसीलिए योर मनी के खास सीरीज बता रहे हैं कुछ ऐसी स्ट्रैटेजीस जिन्हें अपनाकर आप बन सकते हैं स्मार्ट इन्वेस्टर। इक्विटी के उतार-चढ़ाव और इंश्योरेंस से जुड़े सवालों पर अपनी राय देंगे पॉलिसी बाजार के को-फाउंडर और सीईओ यशीष दहिया।


निवेशक बैलेंस्ड फंड के साथ निश्चिंत रह सकते हैं। निवेशकों को इक्विटी का हिस्सा 65-75 फीसदी रखना चाहिए और बाकी 25-35 फीसदी निवेश बॉन्ड में करना चाहिए। डेट का हिस्सा फंड को ज्यादा उतार-चढ़ाव से बचाता है। डेट फंड में डाइवर्सिफाइड इक्विटी फंड से कम उतार-चढ़ाव रहता है।


निवेशक बार-बार अपने पोर्टफोलियो को नहीं बदल सकते इसलिए बैलेंस्ड फंड ही  अच्छे हैं। बैलेंस्ड फंड में लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन टैक्स नहीं लगता है। डेट फंड में लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन टैक्स लगता है। बाजार की गिरावट में फंड मैनेजर इक्विटी में निवेश घटा देता है। बाजार की तेजी में इक्विटी एलोकेशन बढ़ता जाता है। चढ़ते बाजार में यूलिप का रिटर्न अच्छा रहता है।


म्यूचुअल फंड स्कीमें और यूलिप बाजार को देखकर स्ट्रैटेजी बनाते हैं। लेकिन खास स्कीमों में गिरते बाजार में इक्विटी में निवेश घट जाता है। निवेशक गिरावट से बचने के लिए हाइब्रिड फंड में पैसा लगा सकते हैं। हाइब्रिड फंड का 65-100 फीसदी निवेश इक्विटी में और 0-35 फीसदी निवेश डेट में होता है। और फंड मैनेजर ही बाजार के हिसाब से हाइब्रिड फंड में इक्विटी/डेट का हिस्सा तय करता है।


आइए अब गौर करते हैं इंश्योरेंस से जुड़े सवालों पर -


सवाल : पिता की उम्र 62 साल है। उन्हें हर महीने 11,000 रुपये पेंशन मिलती है। पिताजी शराब पीते हैं और उन्हें ब्लड प्रेशर की दिक्कत है। कोई अच्छा लाइफ कवर बताएं।


यशीष दहिया : 62 साल की उम्र में लाइफ कवर लेने की जरूरत नहीं है। इस उम्र में पिता का लाइफ इंश्योरेंस बहुत महंगा पड़ेगा। लिहाजा आप पिता के लिए लाइफ कवर न लेकर एक हेल्थ इंश्योरेंस प्लान जरूर लें। 


सवाल : क्या एनआरआई ऑनलाइन टर्म इंश्योरेंस खरीद सकता है? यदि हां, तो खरीदने की प्रक्रिया क्या होगी? कौन सी कंपनियां एनआरआई को ऑनलाइन टर्म प्लान देती हैं?


यशीष दहिया : एनआरआई एलआईसी, आईसीआईसीआई प्रू लाइफ, मैक्स लाइफ, कोटक लाइफ से टर्म कवर ले सकते हैं। पॉलिसी खरीदते वक्त भारत में रहना जरूरी नहीं हैं। लेकिन देश से बाहर हैं तो मेडिकल टेस्ट का खर्च खुद उठाना होगा। रेजिडेंट और नॉन रेजिडेंट का प्रीमियम एक जैसा ही होता है। एनआरओ या एनआरई बैंक अकाउंट के जरिए पेमेंट कर सकते हैं। विदेशी करेंसी में भी प्रीमियम भर सकते हैं।


वीडियो देखें