Moneycontrol » समाचार » निवेश

सेफ्टी फर्स्ट: टैक्स फ्री बॉन्ड में निवेश

प्रकाशित Thu, 29, 2013 पर 12:34  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

घरेलू बाजार की जो हालत है, उसे देखकर निवेशक डरे हुए हैं, वो इसमें अपने हाथ नहीं जलाना चाहते। इस निगेटिव माहौल में बताएंगे कि कहां पैसा लगाने पर मिलेगा सुरक्षित रिटर्न, क्योंकि मकसद है सेफ्टी फर्स्ट। आज बात करेंगे टैक्स फ्री बॉन्ड की।


रूंगटा सिक्योरिटीज के सीएफपी, हर्षवर्धन रूंगटा का कहना है कि टैक्स फ्री बॉन्ड खरीदने पर टैक्स छूट नहीं मिलती है। लेकिन, इन बॉन्ड पर मिलने वाले ब्याज पर टैक्स नहीं लगता है। लेकिन, बॉन्ड लिस्ट होने के बाद इनमें ट्रेड करने पर शॉर्ट टर्म या लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन टैक्स लग सकता है।


हर्षवर्धन रूंगटा के मुताबिक बैंक एफडी के मुकाबले टैक्स फ्री बॉन्ड निवेश का बेहतर विकल्प है। बैंक एफडी में लिक्विडिटी ज्यादा होती है, लेकिन टैक्स फ्री बॉन्ड लिस्ट होने के बाद ये भी लिक्विड हो जाएंगे। 10 लाख रुपये तक निवेश करने पर रिटेल निवेशक की श्रेणी में रहेंगे। इससे ज्यादा निवेश करने पर एचएनआई श्रेणी में गिने जाएंगे।


आरईसी का टैक्स फ्री बॉन्ड शुक्रवार को खुलने वाला है। इश्यू के जरिए आरईसी की 3500 करोड़ रुपये जुटाने की योजना हैष आरईसी 10, 15 और साल के अवधि के बॉन्ड जारी करेगा। रिटेल निवेशक को 10 साल के बॉन्ड पर 8.26 फीसदी ब्याज मिलेगा। वहीं, 15 साल के बॉन्ड पर 8.71 फीसदी और 20 साल के बॉन्ड पर 8.62 फीसदी का ब्याज मिलेगा।


टैक्स फ्री बॉन्ड के जरिए हडको की 1250 करोड़ रुपये जुटाने की योजना है। हडको 10, 15 और 20 साल की अवधि के बॉन्ड जारी करेगा। इन बॉन्ड को केयर और इंडिया रेटिंग्स से एए+ की रेटिंग मिली है। 10 साल के बॉन्ड पर 8.11 फीसदी, 15 साल के बॉन्ड पर 8.56 फीसदी और 20 साल के बॉन्ड पर 8.47 फीसदी का ब्याज मिलेगा।


वीडियो देखें