Moneycontrol » समाचार » प्रॉपर्टी

इंडिया रियल एस्टेटः तेजी से तरक्की करता भुवनेश्वर

प्रकाशित Mon, 23, 2013 पर 11:14  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

भुवनेश्वर, देश के पूर्वी राज्य ओडिशा की राजधानी। भुवनेश्वर का इतिहास 3000 साल से भी ज्यादा पुराना है और इसका उल्लेख महाभारत काल में भी मिलता है। भुवनेश्वर को अपना नाम त्रिभुनेश्वर से मिला है जिसका मतलब होता है तीनों लोकों का स्वामी, यानि शिव। यहां के उदयगिरी और खांडागिरी में आपको दूसरी शताब्दी ईसा पूर्व की गुफाएं देखने को मिलेंगी जिन्हें कलिंग राजाओं ने बनवाया था। भुवनेश्वर को सिटी ऑफ टेंपल्स भी कहा जाता है और यहां पर राजा रानी और लिंग राज जैसे बेहद पुराने और प्रसिद्ध मंदिर मौजूद हैं।


लेकिन आधुनिक भुवनेश्वर की नींव पड़ी देश की आजादी के बाद। जब चंडीगढ़ की तर्ज पर भुवनेश्वर को ओडिशा की राजधानी के तौर पर एक प्लान्ड सिटी की तरह बसाया गया। हांलाकि शरुआत में इसे सिर्फ 40,000 की आबादी के हिसाब से बनाया गया था लेकिन आज भुवनेश्वर में 10 लाख से ज्यादा लोग रहते हैं। हांलाकि प्लान्ड सिटी होने की वजह से भुवनेश्वर के मुख्य इलाकों में इंफ्रास्ट्रक्चर काफी अच्छा है लेकिन नए डेवलप हो रहे इलाकों में इस पर ध्यान देने की जरूरत है।


आज का भुवनेश्वर तेजी से तरक्की कर रहा है। हायर एजुकेशन के लिए यहां पर एक से बढ़ कर एक शिक्षण संस्थाएं मौजूद हैं जिसमें आईआईटी और एम्स जैसे इंस्टिट्यूट्स शामिल हैं तो दूसरी तरफ यहां पर स्वास्थ्य सुविधाओं की भी कमी नहीं है और यहां पर देश के कई बड़े अस्पताल अपने मौजूदगी दर्ज करा चुके हैं।


भुवनेश्वर की कनेक्टिविटी भी काफी अच्छी है। रेलवे के जरिए ये लगभग पूरे देश से जुड़ा हुआ है और ईस्ट कोस्ट रेलवे का हेडक्वार्टर भी यहीं पर मौजूद है। इसके अलावा ये देश के बड़े शहरों से हवाई मार्ग से भी जुड़ा हुआ है और जल्द ही यहां से अतंर्राष्ट्रीय उड़ाने भी शुरु होने वाली हैं। इतना ही नहीं शहर के अंदर अलग-अलग इलाकों की कनेक्टिविटी को बहेतर बनाने के लिए भी कई तरह की योजनाएं तैयार हैं।


धीरे-धीरे भुवनेश्वर एक आधुनिक शहर का रूप ले रहा है। अब यहां पर भी मॉडर्न लाइफ स्टाइल के लिहाज से नए मॉल और मल्टिप्लैक्स खुल रहे हैं। शहर में लाइफ स्टाइल से जुड़े सभी बड़े ब्रांड मौजूद हैं और लगभग सभी बड़ी कार कंपनियां यहां पर अपने शो रुम खोल चुकी हैं जिनमें ऑडी जैसी कंपनियां भी शामिल हैं। इन्ही सब बातों के बीच बदल रह है यहां का रियल एस्टेट मार्केट जिसमें अब मॉर्डन लाइफ स्टाइल को देखते हुए मॉर्डन फैसिलिटी वाले टाउनशिप प्रोजेक्ट भी आ रहे हैं।


भुवनेश्वर की आबादी इस वक्त करीब 10 लाख है। लेकिन अब इसके तेजी से बढ़ने की उम्मीद है। शहर में तेजी से हो रहे डेवलपमेंट और रोजगार के बढ़ते मौकों के चलते यहां पर अगले 5 साल में बड़ी तादाद में लोगों के आने की उम्मीद है। यही कारण है कि भुवनेश्वर के रियल एस्टेट मार्केट में हलचल तेज है, एक ऐसे माहौल में भी जबकि देश में मंदी का माहौल है।


दूसरे बड़े शहरों की तरह भुवनेश्वर भी तेजी से फैल रहा है और यहां पर नए-नए इलाके डेवलप हो रहे हैं। भुवनेश्वर की खास बात ये है कि ये सभी दिशाओं में बढ़ रहा है, उत्तर में पटिया और रघुनाथ पुर जैसे इलाके हैं तो दक्षिण में सुंदरपडा जैसे नए इलाके उभर रहे हैं। वहीं पश्चिम में घोटापटना जैसे इलाकों में तेज डेवलपमेंट हुआ है तो पूर्व में और उत्तर पूर्व में नेशनल हाइवे5 से लगे इलाके तेजी से उभर रहे हैं।


भुवनेश्वर में भी पिछले कुछ सालों में जमीन के दाम तेजी के साथ बढ़े हैं। हांलाकि आज भी दूसरे टियर टू शहरों के मुकाबले यहां पर प्रॉपर्टी सस्ती कही जा सकती है। इस वक्त भुवनेश्वर के नए इलाकों में औसत भाव 3000 से 3500 रुपये के बीच चल रहा है। अब भुवनेश्वर में भी अपार्टमेंट कल्चर जोर पकड़ रहा है इसीलिए आपको कई नए हाईराइज डेवलपमेंट होते हुए नजर आएंगे। आईटी और सर्विस सेक्टर की दूसरी कंपनियों में काम करने वालों के लिए मॉर्डन लाइफ स्टाइल के प्रोजेक्ट लॉन्च हो रहे हैं। इनमें टाउनशिप प्रोजेक्ट भी शामिल हैं जिसमें सभी आधुनिक सुविधाएं भी दी जा रही हैं।


हालांकि इस वक्त पूरे देश में प्रॉपर्टी मार्केट में सुस्ती है और इसका कुछ असर भुवनेश्वर के बाजार पर भी पड़ा है लेकिन जानकारों को यही वक्त एक मौके की तरह भी लग रहा है जबकि प्रॉपर्टी की कीमतों में ठहराव और अच्छी डील की जा सकती है। क्योंकि भुवनेश्वर की तरक्की और यहां के प्रॉपर्टी बाजार को देख कर अंदाजा लगाया जा सकता है कि आने वाले वक्त में यहां पर अच्छे रिटर्न मिलने की पूरी उम्मीद है।


वीडियो देखें