Moneycontrol » समाचार » टैक्स

टैक्स की उलझनें सुलझाएंगे टैक्स गुरु

प्रकाशित Sat, 12, 2013 पर 14:45  |  स्रोत : CNBC-Awaaz


टैक्स से जुड़ी उलझनें कई बार हमें परेशान करती हैं लेकिन टैक्स गुरु सुभाष लखोटिया उन्हें सुलझाने में हमारी मदद करते हैं। टैक्स गुरु सुभाष लखोटिया ने टैक्स से जुड़े कई सवालों के जवाब दिए जो आपके भी बहुत काम आ सकते हैं।


सवालः जीजा एक एनआरआई हैं, जिवका पुणे में फ्लैट है। अगर वो इन्हें फ्लैट गिफ्ट करते हैं तो क्या टैक्स देना होगा और अगर वो फ्लैट बेचकर मिली रकम गिफ्ट करते हैं तो टैक्स की देनदारी कैसे होगी?


सुभाष लखोटिया: जीजा से गिफ्ट में मिले फ्लैट पर कोई टैक्स नहीं देना होगा। आईटी कानून के तहत रिश्तेदार से मिले गिफ्ट पर टैक्स नहीं देना होता है।


सवालः बैंक में 25 लाख रुपये की एफडी कर रखी है जिससे 2.25 लाख रुपये का सालाना ब्याज मिलता है। बैंक में फॉर्म 15जी भी जमा किया है। क्या बैंक टीडीएस काटेगा और क्या इंकम टैक्स रिटर्न भरना जरूरी है?


सुभाष लखोटिया: आपको मिला ब्याज इंकम छूट की सीमा से ज्यादा है इसलिए आपको एफडी से मिले ब्याज पर इंकम टैक्स देना होगा। इसके अलावा बैंक भी इस पर टीडीएस काटेगा। आपको इंकम टैक्स भरना और रिटर्न फाइल करना जरूरी है।


सवालः दुबई में रहते हैं और 10 लाख रुपये अपने पिता को देना चाहते हैं जो भारत में रहते हैं। टैक्स बचाने के लिए पैसे एनआरआई अकाउंट से ऑनलाइन ट्रांसफर करें या चेक से दें? ये भी बताएं कि क्या इस पर पिता को कोई टैक्स देना होगा?


सुभाष लखोटिया: आप अपने पिता को 10 लाख रुपये एनआरआई अकाउंट से ऑनलाइन ट्रांसफर कर सकते हैं। इस पर पिता को कोई टैक्स नहीं देना होगा। इस रकम को निवेश करने पर मिली इंकम पिता की अन्य आय में जुड़ेगी। अगर पिता जी टैक्स बचाना चाहते हैं तो टैक्स फ्री बॉन्ड में निवेश करें।


सवालः पत्नी को ट्यूशन और शेयर बाजार में निवेश से आय होती है जो सालाना 2 लाख रुपये से कम है। क्या पत्नी की इंकम पति की आय में जुड़ेगी और क्या पत्नी को भी रिटर्न भरना होगा?


सुभाष लखोटिया: पत्नी की इंकम पति की इंकम में क्लब नहीं होगी। कमाई 2 लाख रुपये से कम है तो रिटर्न फाइल करने की जरूरत नहीं है। हालांकि फइर भी पत्नी का रिटर्न भर सकते हैं ताकि भविष्य में कोई दिक्कत ना हो।


सवालः परिवार के पास 1919 से कृषि जमीन है जिस पर रो हाउस बंग्लो बना रहे हैं। प्लॉट की कीमत 1 लाख रुपये है और इसे बनाकर 18 लाख रुपये में बेचेंगे, इस पर टैक्स की देनदारी कैसे बनेगी? क्या ये बिजनेस इंकम कहलाएगी या कैपिटल गेन्स इंकम कहलाएगी?


सुभाष लखोटिया: बिजनेस इंकम कहलाएगी या कैपिटल गेन्स इंकम होगी ये अकाउंट में दिखाने पर निर्भर करता है।


वीडियो देखें