Moneycontrol » समाचार » फाइनेंशियल प्लानिंग

खर्च पर लगाएं लगाम, फिर करें फाइनेंशियल प्लानिंग

प्रकाशित Thu, 31, 2013 पर 12:00  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

निवेश करने से पहले सबसे जरूरी होता है अपने लक्ष्य को तय करना। लेकिन लक्ष्य तय करने के बाद ये भी सवाल उठता है कि कहां और कितना निवेश करना जरूरी है। फाइनेंशियल प्लानिंग की ऐसी तमाम अड़चन भरी राहों को दूर कर रहे हैं ऑप्टिमा मनी मैनेजर्स के डायरेक्टर पंकज मठपाल


मुंबई के रहने वाले राकेश के पोर्टफोलियो में 4 म्यूचुअल फंड स्कीम्स हैं और उन्हें 17 साल बाद बच्चे की पढ़ाई के लिए 20 लाख रुपये जोड़ना है। साथ ही 10 साल बाद घर और कार के लिए 1 करोड़ रुपये जो़ड़ने हैं।


पंकज मठपाल का कहना है कि राकेश का लाइफ इंश्योरेंस का सम अश्योर्ड कम है जिसे बढ़ाने की जरूरत है। लिहाजा एक टर्म इश्योरेंस पॉलिसी खरीदने की सलाह है। 10 साल में घर के लिए 1 करोड़ रुपये जुटाना मुश्किल है इसीलिए डाउन पेमेंट देकर लोन पर घर लेने की योजना बनाएं।


रिटायरमेंट के लिए 2 करोड़ रुपये की जरूरत को भी पूरा करना है, ऐसे में पंकज मठपाल का मानना है कि इन सभी जरूरतों को पूरा करने के लिए महीने में 50,000 रुपये निवेश करना होगा। हर महीने 50,000 रुपये निवेश करना संभव नहीं इसीलिए आमदनी बढ़ने के साथ निवेश की रकम को बढ़ाने की सलाह है। साथ ही खर्चों को कम करने पर जोर देना होगा। ज्यादा से ज्यादा निवेश लार्जकैप फंड में करना फायदेमंद होगा


वीडियो देखें