Moneycontrol » समाचार » प्रॉपर्टी

रियल एस्टेट टीवीः मुंबई पर किस डेवलपर की नजर

प्रकाशित Tue, 17, 2013 पर 15:08  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

प्रॉपर्टी बाजार में घटती बिक्री से परेशान डेवलपर्स बिजनेस बढ़ाने के लिए नए तरीके अपना रहे हैं। एनआरआई मार्केट पर दांव लगाने के अलावा अब डेवलपर भारत के दूसरे शहरों में भी अपने प्रोजेक्ट बेचने की कोशिश में हैं जिसके लिए मुंबई सबका पसंदीद बन गया है।


मुंबई के वेस्टर्न एक्सप्रेस हाईवे से टाउन की तरफ चलें तो आलिशान मकान बेच रहे ढेरों होर्डिंग दिखेंगें। लेकिन पिछले कुछ दिनों से इन पर प्रोजेक्ट्स के एड्रेस बदल गए हैं। अब ऐसे कई होर्डिंग दिखेंगे जो बंगलुरु के मल्लेश्वरम जैसे इलाकों में मकान बेच रहे हैं। शहर के अखबारों में तो चेन्नई, कोयंबटूर और पुणे के प्रोजेक्ट के भी एड दिखेंगे। जैसे पुणे के कोल्ते -पाटिल डेवलपर मुंबई में पुणे के दो प्रोजेक्ट बेच रहे हैं और शुरुआती रिस्पॉन्स भी काफी अच्छा है। जानकार इसे तेजी से बढ़ता ट्रेंड बताते हैं।


कोल्ते पाटील के मुताबिक उनके प्रोजेक्ट में 20 फीसदी खरीदार मुंबई से हैं। कंपनी को उम्मीद है कि विज्ञापन पर जोर लगाकर वो महीने भर में 25-30 मकान बेच सकेगी। दरअसल, पिछले 1.5 साल से मुंबई मार्केट में मकानों की बिक्री लगातार घट रही है। लायसीस फोरास की रिपोर्ट के मुताबिक बिक्री पिछले साल के मुकाबले 20 फीसदी घटी है और इसकी वजह है बढ़ती कीमतें। और इसी का फायदा दूसरे शहरों के बडे़ डेवलपर उठाना चाहते हैं।


हालांकि इस ट्रेंड के पीछे और एक वजह है वो ये कि इन डेवलपर्स के प्रोजेक्ट उनके होम मार्केट के हिसाब से काफी महंगे हैं। मुंबई में आ रहे ये डेवलपर 1-1.5 करोड़ रुपये के टिकट साइज वाले लक्जरी या प्रीमियम सेगमेंट के मकान बेच रहे हैं। होर्डिंग्स और अखबारों में विज्ञापन के अलावा मुंबई में वो प्रॉपर्टी एक्जिबिशन के जरिए भी खरीदारों को लुभाने की कोशिश कर रहे हैं।


वीडियो देखें