Moneycontrol » समाचार » टैक्स

टैक्स गुरु: इनकम टैक्स से जुड़े सवालों के जवाब

प्रकाशित Sat, 18, 2014 पर 13:02  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

टैक्स एक ऐसा टॉपिक जिसके बारे में हममें से ज्यादातर लोग सोचना पसंद नहीं करते हैं। उलटे इनकम टैक्स का नाम आते ही हम परेशान हो जाते हैं। हालांकि पूरे साल हमारी कोशिश रहती है कि हम ज्यादा से ज्यादा टैक्स बचाएं और इसके लिए हम कई तरह के निवेश भी करते हैं लेकिन फिर भी कई बार हम इनमें उलझ जाते हैं। आपकी इन्हीं उलझनों को सुलझाने के लिए जानते हैं टैक्स गुरु सुभाष लखोटिया की सलाह।


सवाल : पैन कार्ड क्यों जरूरी है और पैन कार्ड की जरूरत कहां-कहां होती है?


सुभाष लखोटिया : आईटी कानून के नियम 114बी के तहत कई ट्रांजैक्शन में पैन नंबर लिखना जरूरी है। 5 लाख या ज्यादा की अचल संपत्ति की बिक्री या खरीद पर, गाड़ी की खरीद-बिक्री पर, 50,000 रुपये से ज्यादा का टाइम डिपॉजिट निकालने पर और 50,000 रुपये से ज्यादा पोस्ट ऑफिस अकाउंट में जमा करने पर पैन नंबर लिखना जरूरी है।


इसके अलावा 1 लाख रुपये से ज्यादा के शेयर खरीदने-बेचने पर, बैंक अकाउंट खोलने पर, टेलीफोन और मोबाइल फोन का नया कनेक्शन लगाने पर और होटल आदि में 25,000 रुपये से ज्यादा का पेमेंट एक बार में करने पर पैन नंबर देना जरूरी है। 


सवाल : नौकरी की वजह से शहर बदलते रहते हैं। पैन माइग्रेशन की औपचारिकताओं को लेकर उलझन है और इस पर जानकारी चाहता हूं?  


सुभाष लखोटिया : पूरे भारत के लिए एक ही पैन नंबर मान्य होता है। शहर बदलने पर पैन माइग्रेशन की औपचारिकताएं पूरी करना जरूरी है। इससे टैक्स के सारे रिकॉर्ड पुराने शहर से नए शहर के टैक्स ऑफिस में शिफ्ट हो जाते हैं।  


सवाल : पीपीएफ मैच्योर होने पर मिली रकम को क्या इनकम टैक्स में दिखाना जरूरी है? अकाउंट से मिले 2.5 लाख रुपये की राशी को अपने इनकम टैक्स रिटर्न में


सुभाष लखोटिया : पीपीएफ अकाउंट से मिली रकम को अपने इनकम टैक्स रिटर्न में दिखाना जरूरी नहीं है। क्योंकि पीपीएफ मैच्योर होने पर मिलने वाली राशि टैक्स फ्री होती है। चाहे तो आप इस रकम को छूट-प्राप्त इनकम कॉलम में दिखा सकते हैं।


वीडियो देखें