Facebook Pixel Code = /home/moneycontrol/commonstore/commonfiles/header_tag_manager.php
Moneycontrol » समाचार » बीमा

योर मनी: पॉलिसी को लैप्स होने से बचाएं

प्रकाशित Wed, 26, 2014 पर 08:29  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

इंश्योरेंस पॉलिसी हम बड़े अरमानों के साथ लेते हैं। इस पॉलिसी के साथ मानसिक संतुष्टि के साथ-साथ जीवन की सुरक्षा भी जुड़ी होती है। भविष्य में होने किसी अनहोनी, किसी अप्रिय घटना से निपटने की तैयारी का एक माध्यम है इंश्योरेंस पॉलिसी। ऐसे में इंश्योरेंस पॉलिसी को लैप्स ना होने दें, अक्सर देखा गया है कि बीमाधारक पॉलिसी तो ले लते है। लेकिन कुछ प्रीमियम भरने के बाद पॉलिसी को वैसे ही छोड़ दे देता है। यह हमेशा ध्यान रखना चाहिए, यदि आप इंश्योरेंस पॉलिसी को लैप्स होने दे रहे हैं, तो अपने भविष्य के सपनों पर काले बादल मंडराने लगते हैं।


बजाज कैपिटल के ग्रुप सीईओ अनिल चोपड़ा का कहना है कि हर बीमा धारक की सबसे पहली कोशिश ये होनी चाहिए कि इंश्योरेंस पॉलिसी किसी भी तरह लैप्स नहीं हो। क्योंकि पॉलिसी लैप्स होने पर बीमाधारक के साथ-साथ इंश्योरेंस कंपनी और उससे जुड़े एजेंट का भी नुकसान होता है। हालांकि यहां बीमाधारक का नुकसान सबसे ज्यादा मायने रखता है।


पॉलिसी को लैप्स होने से बचाने के लिए आप अपने प्रीमियम की रकम को अपने बैंक खाते के साथ ईसीएस कर सकते हैं। इससे आपको प्रीमियम की तारीख याद रखने की जरूरत नहीं पड़ेगी। साथ ही प्रीमियम का भुगतान करने के लिए इंश्योरेंस कंपनी के चक्कर भी नहीं लगाने पड़ेंगे।  ईसीएस के माध्यम से हर महीने एक निर्धारित तारीख को तय प्रीमियम की रकम आपके खाते से कट जाएगी। इसके अलावा आप अब बैंक के एटीएम से भी अपनी पॉलिसी के प्रीमियम का भुगतान कर सकते हैं।


यदि पॉलिसी लैप्स भी हो जाए तो उसे दोबारा भी शुरू किया जा सकता है। सबसे पहले तो इंश्योरेंस कंपनी की ओर एक ग्रेस पीरियड मिलता है, जो 30 दिनों का होता है। उस दौरान प्रीमियम का भुगतान करके आप अपनी पॉलिसी को शुरू कर सकते हैं। वहीं ग्रेस पीरियड निकल जाने के बाद भी पॉलिसी को शुरू किया जा सकता है। लेकिन दोबारा आपको पॉलिसी देने के पूरा अधिकार कंपनी के पास होता है। ऐसा भी हो सकता है लैप्स पॉलिसी को दोबारा शुरू करते समय आप मेडिकल जांच में खरे नहीं उतरते हैं तो पॉलिसी आपको नहीं मिलेगी। या फिर उसी पॉलिसी का प्रीमियम भी बढ़ सकता है। ऐसी तमाम परेशानियों से बचने के लिए बेहतर है कि ध्यान रखें आपकी पॉलिसी लैप्स ना हो। उसके प्रीमियम का भुगतान समय पर करते रहें।


वीडियो देखें