Facebook Pixel Code = /home/moneycontrol/commonstore/commonfiles/header_tag_manager.php
Moneycontrol » समाचार » टैक्स

टैक्स गुरूः कैसे करें कमाई, बचाएं टैक्स

प्रकाशित Sat, 22, 2014 पर 13:06  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

टैक्स का नाम सुनते ही अगर आपको भी हो जाती है तो चिंता तो टैक्स गुरू सुभाष लखोटिया से जानकारी लेना आपके लिए बहुत फायदेमंद हो सकता है। टैक्स का ऐसा कोई भी सवाल नहीं है जिसका जवाब टैक्स गुरू सुभाष लखोटिया के पास ना हो। आज टैक्स गुरू ने टैक्स से जुड़े कई सवालों के जबाव दिए जो आपके भी बहुत काम आ सकते हैं।


सवालः मेरा 20111-2012 का रिफंड का चेक आकर वापस चला गया। अब मुझे क्या करना चाहिए?


सुभाष लखोटिया: अपने असेसिंग अधिकारी को पत्र लिखकर बताएं कि आपका रिफंड का चेक आकर वापस चला गया है। इसके बाद आपको फिर से चेक जारी होगा और आपके पास भेज दिया जाएगा।


सवालः हर महीने माता-पिता को खर्च के लिए 10,000 रुपये भेजते हैं, क्या इस पर टैक्स छूट मिल सकती है?


सुभाष लखोटिया: माता पिता का खर्च चलाने के लिए भेजी गई रकम पर किसी तरह की टैक्स छूट नहीं मिलती है।


सवालः 28 फरवरी को रिटायरमेंट हुए हैं और 5 लाख रुपये का लीव एनकेशमेंट मिला है, क्या इस पर टीडीएस काटा जाएगा?


सुभाष लखोटिया: लीव एनकेशमेंट के तौर पर मिली पूरी रकम टैक्स फ्री नहीं है। लीव एनकेशमेंट में मिली रकम में से अधिकतम 3 लाख रुपये तक ही पर टैक्स छूट मिलेगी और बाकी रकम पर टीडीएस काटा जाएगा।


सवालः बैंक में काम करता हूं और 35,000 रुपये सैलरी है। टैक्स बचाने के लिए कहां निवेश करना होगा?


सुभाष लखोटिया: आप अलग अलग निवेश विकल्पों में 1 लाख रुपये का निवेश कर लें, इससे आपको सेक्शन 80 सी का फायदा मिल जाएगा। आप पीपीएफ में निवेश करें और कुछ रकम इंश्योरेंस में भी लगाएं।


सवालः सैलरी 25320 रुपये है और कंपनी हर महीने 1140 रुपये का टीडीएस काट रही है। कृपया बताएं कि टीडीएस कैसे जोड़ते हैं?


सुभाष लखोटिया: सालाना तनख्वाह जोड़कर कुल इनकम निकालें। सैलरी से सेक्शन 80सी के तहत किए गए निवेश हटा दें। अब कुल इनकम पर टैक्स जोड़े। रकम को 12 से भाग करें और हर महीने का टीडीएस निकालें।


सवालः नया घर खरीद रहे हैं, घर का रजिस्ट्रेशन अने नाम से करें या पत्नी के साथ ज्वाइंट नाम से करें?


सुभाष लखोटिया: पत्नी के साथ ज्वाइंट नाम से प्रॉपर्टी खरीदें। प्रॉपर्टी में अपने हिस्से की राशि पत्नी खुद दें। तभी पत्नी और पति दोनों को टैक्स छूट का फायदा मिलेगा। अगर पत्नी के पास पैसे नहीं हैं तो वो पति से लोन के रूप में पैसे ले सकती है और बाद में इसको चुका सकती है।


वीडियो देखें