Moneycontrol » समाचार » निवेश

वेतन बढ़ा, अब कैसे करें निवेश की प्लानिंग

प्रकाशित Thu, 17, 2014 पर 08:38  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

नियमित रूप से निवेश ही एक मात्र ऐसा माध्यम है जिससे हम अपने भविष्य के वित्तीय लक्ष्य को हासिल कर सकते हैं। ऐसे में जरूरी है कि हम बिना किसी रुकावट के निवेश करते जाएं। इसके अलावा जब वेतन बढ़े तो निवेश को और बढ़ा देना चाहिए। यहां फाइनेंशियल प्लानर अर्नव पंड्या समझा रहे हैं वेतन बढ़ने पर कैसे करें निवेश की प्लानिंग


अर्नव पंड्या के अनुसार मान लीजिए आपकी सैलरी नहीं बढ़ी है, लेकिन एकमुश्त बोनस आपको कंपनी की ओर से मिल है तो आपको थोड़ा सावधानी पूर्वक निवेश करना चाहिए। बोनस मिलने पर सामान्य तौर पर लोग उसको खर्च कर देते हैं। लेकिन ध्यान रखना चाहिए बोनस को लेकर पहले से ही प्लानिंग कर लेना चाहिए।


यदि आपकी सैलरी नहीं बढ़ी है केवल बोनस मिला है तो ज्यादा से ज्यादा निवेश करने की सोचना चाहिए। कुछ लक्ष्य बनाएं और बोनस की रकम को उसके लिए निवेश करें। ऐसा करने से आपका बोनस का सही उपयोग हो जाएगा। हालांकि पूरी रकम को एकमुश्त नहीं नहीं करें। यही जरूरी नहीं की पूरी रकम आप एक साथ निवेश किया जाए। बोनस का तय हिस्सा डेट फंड में डालें तो ज्यादा बेहतर रहेगा।


वेतन नहीं बढ़ा है और केवल बोनस मिला है तो सबसे पहले घर के खर्चों की समीक्षा करना चाहिए। उसके मुताबिक ही अपना निवेश की प्लानिंग करना चाहिए। वहीं यदि इंक्रीमेंट बहुत कम हुआ है तो देखें किस कैटेगरी में आपको इंक्रीमेंट मिला है उसके बाद ही निवेश के विकल्पों पर विचार करना चाहिए। निवेश के ऐसे विकल्प चुनें जहां टैक्स की बचत हो सके।


वीडियो देखें