Moneycontrol » समाचार » टैक्स

जानिए टैक्स से जुडे सवालों के जवाब

प्रकाशित Thu, 01, 2014 पर 16:07  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

जानिए टैक्स गुरु सुभाष लखोटिया से टैक्स बचत के आसान तरीके जो टैक्स से जुड़े मुश्किल से मुश्किल सवालों को आसान कर आपको करते हैं टेंशन फ्री।   


सवाल : सेक्शन 50सी क्या हैं और इसका हमारी पर असर डालता है?


सुभाष लखोटिया : प्रॉपर्टी बेचने के लिए सेक्शन 50सी काफी अहम होता है। प्रॉपर्टी का सर्किल रेट बिक्री कीमत माना जाता है। बिक्री कीमत कम हो तो भी सर्किल रेट ही मान्य होगा। बिक्री कीमत कुछ भी हों तब भी कैपिटल गेन, सर्किल रेट से ही तय होगा। सेक्शन 50 सी के तहत प्रॉपर्टी की खरीद-बिक्री पर ये नियम लागू होगा। 


सवाल : घर में अगर अपना हिस्सा बेटे को गिफ्ट करते हैं तो क्या टैक्स लगेगा और किसको लगेगा?   


सुभाष लखोटिया : बेटे को प्रॉपर्टी गिफ्ट करने पर कोई टैक्स नहीं लगेगा। प्रॉपर्टी गिफ्ट करने के लिए आप गिफ्ट डीड बनाएं। भविष्य़ में बेटा जब प्रॉपर्टी बेचेगा तो कैपिटल गेन उसे चुकाना होगा। गिफ्ट करने वाले व्यक्ति को जिस किमत पर प्रॉपर्टी मिली, वहीं कीमत बेटे के लिए मान्य होगी।


सवाल : वित्त वर्ष 2011-12 में मां ने पत्नी को 5 लाख रुपये गिफ्ट किया। क्या ये ठीक है और इस पर टैक्स कैसे लगेगा?   


सुभाष लखोटिया : आपकी मां आपकी पत्नी को गिफ्ट दे सकती हैं। इसमें किसी को भी टैक्स नहीं देना होगा। लेकिन गिफ्ट से होने वाली इनकम आपकी मां की इनकम में जुड़ेगी। सेक्शन 64 के तहत क्लबिंग प्रावधान लागू होगा। इसलिए आपकी पत्नी पैसे टैक्स फ्री बॉन्ड में निवेश करें तो बेहतर होगा। 


सवाल : सेक्शन 87ए के तहत 2000 रुपये तक की छूट का फायदा किसे मिल सकता है?


सुभाष लखोटिया : 2000 रुपये तक की अतिरिक्त छूट सेक्शन 87ए के तहत मिल सकती है और ये छूट सिर्फ व्यक्तियों के लिए है। एचयूएफ को इसका फायदा नहीं मिलेगा। अगर 5 लाख रुपये से ज्यादा इनकम है तो छूट नहीं मिलेगी। कंपनी कर्मचारियों को इस छूट का फायदा दे सकती है। अगर कंपनी ने छूट नहीं दिया तो रिटर्न फाइल करें तो रिफंड लें।   


सवाल : प्रॉपर्टी खरीदी, टीडीएस नहीं काटा रजिस्ट्री हो गई है। क्या बेचने वाले से चेक लेकर जमा कर दें?  


सुभाष लखोटिया : प्रॉपर्टी बेचने वाले से 1 लाख रुपये का चेक लें और टीडीएस के लिए चेक आईटी विभाग में जमा कर दें। देर करने पर असेसिंग अधिकारी आप पर पीनल इंटरेस्ट लगा देगा।


सवाल : इनकम टैक्स विभान ने पेंशन अकाउंट फ्रीज किया, क्या करें?


सुभाष लखोटिया : आईटी विभाग का पेंशन अकाउंट फ्रीज करने का कोई तर्क स्पष्ट नहीं समझ आ रहा है। मुमकिन है कि आपका कोई टैक्स बकाया होगा। अगर बिना कारण अकाउंट बंद किया है तो आप अपील फाइल कर सकते हैं। असेसमेंट ऑर्डर के खिलाफ अपील करें या गलती सुधारने के लिए अपील करें।


सवाल :  बेटे के साथ ज्वाइंट एफडी बनाना चाहती हूं। क्या बेटे के ऊपर टैक्स की कोई देनदारी आएगी? 


सुभाष लखोटिया : आप अपनी इनकम बैंक एफडी में निवेश कर सकती हैं। फर्स्ट अकाउंट होल्डर में आप अपना नाम पहले रखें और फिर दूसरा बेटे का रखें। इससे बेटे पर टैक्स की कोई देनदारी नहीं बनेगी। आप चाहे तो निवेश अपने नाम से करें और बेटे को नॉमिनी रख सकते हैं और ये विकल्प अच्छा होगा।     


वीडियो देखें