Moneycontrol » समाचार » बजट अपेक्षाएं

बजट 2017: क्या हैं साइकिल इंडस्ट्री की उम्मीदें

प्रकाशित Tue, 31, 2017 पर 19:37  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

नोटबंदी के बाद साइकिल इंडस्ट्री का पहिया पंचर हो गया है। बिक्री घटने से पूरी इंडस्ट्री निराश है। ऐसे में वो बजट से कुछ रियायत कच्चे माल से लेकर रेडी प्रोडक्ट पर एक जैसा टैक्स लगने की मांग कर रही है।


इस बजट से साइकिल इंडस्ट्री को भी बड़ी उम्मीदें है। साइकिल इंडस्ट्री इस बजट में वित्त मंत्री से 2 प्रतिशत एक्साइज ड्यूटी समाप्त करने की मांग कर रहा है। साथ ही नई तकनीकी व मशीनों के इंपोर्ट पर सब्सिडी की घोषणा करें।


साइकिल इंडस्ट्री की मांग है कि इस बजट में जीएसटी की घोषणा के साथ सरकार इंडस्ट्री को मिलने वाले रॉ मेटिरियल, स्टील, रबड़, प्लास्टिक जैसे कई गुड्स पर एक तरह की यूनिफ़ॉर्म टैक्स लागू करें और स्टील पर इंपोर्ट ड्यूटी समाप्त करें या फिर स्टील रेगुलेटरी अथॉरिटी की घोषणा कर लघु उद्योग को बचाया जाएं।


साइकिल इंडस्ट्री इस बजट में वित्त मंत्री से मांग कर रही है कि टैक्स दरों में 10-30 फीसदी तक की कटौती की जाएं। इतना ही नहीं इंडस्ट्री की मांग है कि इस बजट में सरकार एकस्पोर्ट को बढ़ावा देनेवाले एलान करें। साथ ही ड्यूटी ड्रॉ बैक बढ़ाया जाये और आईपीआरएस स्कीम को दोबारा शुरु किया जाये।