Moneycontrol » समाचार » कमोडिटी खबरें

कमोडिटी बाजारः सोने-चांदी पर दबाव, क्या करें

प्रकाशित Mon, 04, 2017 पर 12:00  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

सोने और चांदी पर आज कारोबार के शुरुआत से ही दबाव बना हुआ है। दोनों की कीमतें पिछले चार महीने के निचले स्तर पर हैं। दरअसल डॉलर में रिकवरी से ग्लोबल मार्केट में गिरावट देखने को मिल रही है। वहीं रुपये में भी रिकवरी से घरेलू बाजार में कीमतों पर दोहरा दबाव है। सोना जहां 29,000 रुपये के स्तर पर आ गया है। वहीं चांदी 37600 रुपये के नीचे कारोबार कर रही है।


अमेरिका में उत्पादन बढ़ने के अनुमान से कच्चा तेल दबाव में आ गया है। ब्रेंट और डब्ल्यूटीआई क्रूड में करीब 0.5 फीसदी नीचे कारोबार हो रहा है। ब्रेंट का दाम 63.5 डॉलर के नीचे है जबकि डब्ल्यूटीआई क्रूड 58 डॉलर के नीचे कारोबार कर रहा है। दरअसल ओपेक के उत्पादन कटौती अगले साल जारी रखने के फैसले के बाद अमेरिका में ऑयल रिग की संख्या बढ़ गई है। फिलहाल एमसीएक्स पर कच्चा तेल 0.75 फीसदी फिसलकर 3735 रुपये पर आ गया है। हालांकि नैचुरल गैस करीब 1.25 फीसदी की मजबूती के साथ 201 रुपये के ऊपर कारोबार कर रहा है।


कॉपर और निकेल को छोड़कर बाकी मेटल में गिरावट आई है। एल्युमिनियम का दाम 0.5 फीसदी गिर गया है। एमसीएक्स पर कॉपर 0.25 फीसदी की बढ़त के साथ 445.3 रुपये पर कारोबार कर रहा है। निकेल 0.5 फीसदी बढ़कर 735.3 रुपये पर कारोबार कर रहा है। वहीं एल्युमिनियम 0.6 फीसदी की कमजोरी के साथ 133 रुपये पर कारोबार कर रहा है। वहीं, एमसीएक्स पर लेड 0.25 फीसदी गिरा है जबकि जिंक 1 फीसदी लुढ़का है।


मंडियों में चने का दाम पिछले 2 साल के निचले स्तर पर आ गया है। इंदौर में ये 4200 रुपये क्विंटल के स्तर पर बिक रहा है। पिछले एक हफ्ते में इसका दाम करीब 10 फीसदी टूट गया है। दरअसल चने में जोरदार बुआई हो रही है। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक देश में अब तक 84.5 लाख हेक्टेयर में चने की खेती हो चुकी है जो पिछले साल से करीब 8 फीसदी ज्यादा है। वहीं दूसरी दालें चने से काफी नीचे हैं, ऐसे में इसकी कीमतों पर चौतरफा दबाव है।


निर्मल बंग कमोडिटीज के कुणाल शाह की सलाह


सोना एमसीएक्स (फरवरी वायदा) : बेचें - 29240, स्टॉपलॉस - 29340 और लक्ष्य - 29090


नैचुरल गैस एमसीएक्स (दिसंबर वायदा) : खरीदें - 200, स्टॉपलॉस - 196.9 और लक्ष्य - 207


कॉपर एमसीएक्स (फरवरी वायदा) : खरीदें - 445, स्टॉपलॉस - 441.9 और लक्ष्य - 449