Moneycontrol » समाचार » कमोडिटी खबरें

अच्छी बारिश के आसार, किसान होंगे मालामाल!

प्रकाशित Fri, 18, 2018 पर 16:56  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

ग्लोबल मार्केट में सोयाबीन का भाव इस हफ्ते करीब 3 फीसदी गिर गया है। जो पिछले 9 महीने की सबसे बड़ी वीकली गिरावट है। लेकिन घरेलू बाजार में भाव संभल रहे हैं। इस बीच सोयाबीन के उत्पादन आंकड़ों को लेकर मतभेद हो गया है। अपने तीसरे अनुमान में सरकार ने देश में 109 लाख टन सोयाबीन पैदा होने का अनुमान दिया है। जबकि इंडस्ट्री मात्र 83.5 लाख टन पर इसे देख रही है। ऐसे में अगले सीजन के लिए सोयाबीन का बकाया स्टॉक सिर्फ एक लाख टन रहने का अनुमान है।


नवंबर के बाद से सोयाबीन का भाव 32 फीसदी ऊपर देखने को मिला है जबकि इस साल इसकी कीमत में 22 फीसदी का उछाल देखने को मिला है। एमएसपी से करीब 30 फीसदी ऊपर कारोबार कर रहा है। सोयाबीन का हाजिर भाव 3300 रुपये के पास है।


भारत में सोयाबीन की खेती पर नजर डालें तो भारत दुनिया में सोयाबीन का पांचवा बड़ा उत्पादक है। एमपी, महाराष्ट्र और राजस्थान में उत्पादन बढ़ा है। सोयाबीन की 50 फीसदी पैदावार मध्यप्रदेश से आती है। इस साल अच्छी बारिश होने की उम्मीद है। सोयाबीन केकीमतों पर खाने के तेल और ऑयल मील का असर देखऩे को मिल रहा है। सोयाबीन, बायोडीजल का भी स्रोत है। क्रूड में तेजी से सोयाबीन पर असर संभव है। नवंबर के बाद से भाव करीब 32 फीसदी तक उछला देखने को मिला है।


इधर अमेरिकी सोयाबीन को चीन से चुनौती मिल रही है। ग्लोबल मार्केट में इस हफ्ते भाव 3 फीसदी गिरा है जो पिछले 9 महीने में सबसे बड़ी साप्ताहिक गिरावट है। यूएस-चीन ट्रेड वॉर से ग्लोबल कारोबार में गिरावट देखने को मिल रही है। अमेरिका से सोयाबीन एक्सपोर्ट में गिरावट आई है। चीन में 25 फीसदी इंपोर्ट ड्यूटी लगने का खतरा है।