Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार खबरें

बड़े पैमाने पर कर्ज घटने की उम्मीदः डीएलएफ

प्रकाशित Mon, 04, 2017 पर 13:59  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

डीएलएफ के बोर्ड ने कर्ज घटाने के लिए पूंजी जुटाने की योजना को मंजूरी दी है। बोर्ड ने क्यूआईपी और पूंजी डालने की योजना को मंजूरी दी है। क्यूआईपी के जरिए 3500 करोड़ रुपये जुटाने को बोर्ड की मंजूरी मिल गई है। कंपनी करीब 14000 करोड़ रुपये का कर्ज घटा सकती है। कंपनी ने बोर्ड में 2 नए सदस्य भी जोड़े हैं।


साथ ही डीएलएफ की डीसीसीडीएल से 3000 करोड़ रुपये के बायबैक की योजना है। मौजूदा इन्वेंट्री से डीएलएफ 18 महीने में 12000 करोड़ रुपये का कर्ज चुकाएगी। बता दें कि सितंबर 2017 के अंत तक डीएलएफ पर 27000 करोड़ रुपये का कर्ज था। वहीं जीआईसी के साथ सौदे से डीएलएफ के प्रोमोटर्स को 8900 करोड़ रुपये मिले हैं।


सीएनबीसी-आवाज़ से बातचीत में डीएलएफ के ईडी, सौरभ चावला ने बताया कि प्रोमोटरों की कंपनी में पूंजी डालने की योजना है जिसे बोर्ड की मंजूरी मिल गई है, और इस योजना पर 27 दिसंबर को शेयरधारकों से मंजूरी ली जाएगी। प्रोमोटरों की पूंजी डालने की योजना से डीएलएफ के कर्ज चुकाने पर फोकस होगा। अगले 1 साल के दौरान डीएलएफ में 14000-15000 करोड़ रुपये की पूंजी आने की उम्मीद है। इस लिहाज से डीएलएफ के कर्ज में बड़े पैमाने में कमी आएगी।


सौरभ चावला के मुताबिक क्यूआईपी लाने के लिए जनवरी से काम शुरू होगा। चौथी तिमाही में क्यूआईपी लॉन्च का पूरा भरोसा है, लेकिन अभी सही समय को लेकर कोई टिप्पणी नहीं की जा सकती है। साथ ही उन्होंने कहा कि अगले 12-24 महीनों के दौरान काफी सारी इन्वेंट्री खत्म होने की उम्मीद है। हालांकि रियल एस्टेट में खरीदारों के सेंटिमेंट में सुधार को लेकर अभी काफी समय लग सकता है।