Moneycontrol » समाचार » कंपनी समाचार खबरें

रिन्यूएबल एनर्जी पर फोकस: एनएलसी इंडिया

प्रकाशित Wed, 03, 2018 पर 14:04  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

एनएलसी इंडिया माइनिंग और बिजली उत्पादन का काम करती है। कंपनी ने निवेली में 130 मेगावाट क्षमता का सोलर पावर प्रोजेक्ट शुरू किया है। निवेली सोलर पावर प्रोजेक्ट की लागत 752.62 करोड़ रुपये है। निवेली प्रोजेक्ट से तमिलनाडु सरकार को बिजली सप्लाई होती है। 3 महीने में कंपनी का शेयर 18 फीसदी उछला है। कंपनी की सालाना बिजली उत्पादन क्षमता 3534 मेगावाट है। कंपनी सालाना 294 मेगावाट रीन्यूएबल एनर्जी से बिजली उत्पादन करती है।


इधर सरकार ने संकेत दिए हैं कि वो कोयला से पैदा होने वाली बिजली की दरें 20 फीसदी तक बढ़ा सकती है। ऊर्जा मंत्री ने कहा है कि पावर प्लांट्स को अपग्रेड करने के लिए पैसा चाहिए। देश में बिजली के दाम 62-93 पैसे प्रति किलोवॉट बढ़ सकते हैं। फिलहाल औसत दरें 5 रुपये प्रति किलोवॉट हैं। बता दें कि देश में कोयला बेस्ड प्लांट्स से तीन-चौथाई बिजली पैदा होती है।


एनएलसी इंडिया के सीएमडी एस के आचार्य ने सीएनबीसी-आवाज़ से बात करते हुए कहा कि कंपनी पहले सिर्फ नेवेली एरिया तक ही सीमित थी और पावर जेनरेशन के साथ लिग्नाइट की खदानों में लगी हुई थी। लेकिन आज के दिन में कंपनी कोल उत्पाद, पावर जेनरेशन और रिन्यूएबल एनर्जी के कारोबार में व्यापक रुप से सक्रीय है और एक अखिल भारतीय कंपनी के रूप में उभर रही है। इसी कंपनी के नाम को नेवेली लिग्नाइट कॉर्पोरेशन से बदल कर एनएलसी इंडिया लि. करने की जरूरत पड़ी। उन्होंने बताया कि कंपनी कोयले से बिजली बनाने के साथ ही रिन्यूएबल एनर्जी पर फोकस कर रही है।