Facebook Pixel Code = /home/moneycontrol/commonstore/commonfiles/header_tag_manager.php
Moneycontrol » समाचार » एफआईआई व्यू

नए शिखर पर जाएगा बाजार, घरेलू निवेशक देंगे दिशा

प्रकाशित Fri, 17, 2017 पर 10:54  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

एंबिट कैपिटल के सीईओ सौरभ मुखर्जी का कहना है कि भारतीय बाजारों में पिछले 2-3 महीनों से जो डोमेस्टिक इंफ्लोज आ रहे है वो रिकॉर्ड लेवल्स पर है। बाजार में घरेलू निवेशकों का दायरा अब बढ़ रहा है। निवेशक सोना और प्रॉपटीज को छोड़ बाजार में आ रहे हैं। बाजार में आगे भी घरेलू निवेश की स्थिति और मजबूत होगी और बाजार अगले दिनों में नए शिखर पर जाते नजर आएगा।

पिछले 2-3 साल से एफआईआई की कहानी खत्म हो चुकी है और अब घरेलू निवेशक बाजार को दिशा देंगे। बाजार की कमान अब घरेलू निवेशकों के हाथों में हैं। भारत और इमर्जिंग मार्केट्स से एफआईआई की रुचि धीरे-धीरे घट रही है। जैसे-जैसे यूस इकोनॉमी रिकवर करती है, वैसे यूस बॉन्ड यील्ड भी ऊपर जा रहा है।


सौरभ मुखर्जी के मुताबिक इकोनॉमी की हालात काफी नाजूक है। हालांकि तीसरी तिमाही का अर्निंग सीजन उतना बुरा नहीं था। लेकिन इसके बावजूद अब भी लगता है कि चौथी तिमाही कमजोर रहेगी और ये कमजोरी 6-9 महीने बरकरार रहेगी। इसलिए कुछ सिक्लिकल सेक्टर पर खास भरोसा नहीं है। बैंकिंग सेक्टर पर तो और भी कम भरोसा है।

इकोनॉमी की नाजूक स्थिति से बैंकों को अगले 6-9 महीनों में भारी नुकसान हो सकता है। फार्मा में अच्छी कंपनियों में और आईटी में दिग्गज कंपनियों में तेजी देखने को मिल सकता है। आईटी और फार्मा शेयर अब अच्छे वाजिब दामों पर मिल रहे हैं।