Moneycontrol » समाचार » फाइनेंशियल प्लानिंग

योर मनी के साथ बनाएं शादी का बजट

प्रकाशित Thu, 16, 2017 पर 19:00  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

लोकसभा में एक बिल पेश हुआ है जो अगर पास हो गया तो आपको शादी में आए मेहमानों और खाने का ब्यौरा सरकार को देना होगा, यहीं नहीं 5 लाख से ज्यादा खर्च करते हैं तो 10 फीसदी पैसा गरीबों की शादी के लिए देना होगा। योर मनी पर हम शादी के खर्च के लिए निर्धारित लक्ष्य पर बात करेंगें, बताएंगें आपको की इस लक्ष्य के लिए कैसे और कितना तैयार होना चाहिए। हमारे साथ हैं वाइजइन्वेस्ट एडवाइजर्स के हेमंत रुस्तगी।


हेमंत रुस्तगी का कहना है कि शादी पर ज्यादा खर्च करने से बचना चाहिए। शादी की बजाय बच्चों की शिक्षा पर खर्च करें। दिखावे पर ना जाकर साधारण शादी करने में समझदारी होती है। शादी पर खर्च की बजाय बच्चों की नई जिंदगी के लिए मदद करें।


हेमंत रुस्तगी के मुताबिक बच्चों की शादी धूमधाम से करना हर माता-पिता का सपना होता है। जिसके लिए जल्द से जल्द निवेश शुरू करना चाहिए। शादी के लिए डायवर्सिफाइड इक्विटी फंड में निवेश करना चाहिए। निवेश से पहले महंगाई को जोड़कर शादी का खर्च निकालना जरूरी होता है। अगर अभी शादी का खर्च 10 लाख है तो 25 साल बाद ये 1 करोड़ हो सकता है। अगर 25 साल बाद 1 करोड़ चाहिए हैं तो प्रति माह 6000 रुपये का निवेश करना होगा।


सवालः हर महीने 15000 निवेश कर सकते हैं, 15 साल में 1 करोड़ रुपये जमा करने के लिए कहां निवेश करें।


हेमंत रुस्तगीः लंबी अवधि का लक्ष्य है इसलिए जोखिम ले सकते हैं। इक्विटी म्युचुअल फंड में एसआईपी के जरिए निवेश करें। 15 साल में  15,000 प्रति माह के निवेश से 76 लाख रुपये जमा हो सकते हैं। 15 साल में 1 करोड़ जमा करने के लिए 20,000 रुपये प्रति माह का निवेश करना होगा। निवेश के लिए एचडीएफसी इक्विटी फंड, कोटक सेलेक्ट फोकस और एलएंडटी वैल्यू फंड में निवेश कर सकते हैं।


सवालः प्लॉट, घर और एजुकेशन के लिए तीन अलग-अलग लोन लिए हैं, क्या तीनों लोन को मिलाकर एक नया लोन ले सकते हैं?


हेमंत रुस्तगीः तीनों लोन की शर्तें, अवधि अलग-अलग रहती हैं। तीनों लोन को मिलाया नहीं जा सकता है।