नए साल की शुरुआत से ही करें निवेश की प्लानिंग -
Moneycontrol » समाचार » फाइनेंशियल प्लानिंग

नए साल की शुरुआत से ही करें निवेश की प्लानिंग

प्रकाशित Sat, 02, 2016 पर 15:41  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

नए साल में अक्सर हम सब कोई संकल्प लेते हैं, तो आज  क्यों ना नए वित वर्ष के मौके पर आप भी कोई वित्तीय संकल्प लिया जाए। यहां आपको बोनांजा पोर्टफोलियो के अचिन गोयल बताएंगें कैसे आप इस नए साल में सही टैक्स सेविंग प्लानिंग करें और साथ ही करें सही निवेश।


अचिन गोयल की कहना है कि साल की शुरुआत से निवेश की प्लानिंग करना अच्छा रहता है। निवेश का फैसला आखिरी समय के लिए नहीं छोड़ना चाहिए। हमारा जोर रिटर्न बढञाने पर होना चाहिए न कि टैक्स बचाने पर। हमें नियमित रुप से हर महीने या हर तिमाही निवेश करना चाहिए।


अब बात करते हैं एक दूसरी अहम खबर की। ब्याज दरों के कैलकुलेशन के नए नियम आने से कर्ज सस्ते होने शुरू हो गए हैं। देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई ने होम लोन की ब्याज 0.1 फीसदी घटाकर 9.55 फीसदी से कम कर 9.45 फीसदी कर दिया है। दरअसल रिजर्व बैंक ने बैंकों को मनमुताबिक दरें तय करने की आजादी छीन ली है और उन्हें अब मार्जिनल कॉस्ट ऑफ लेंडिंग के हिसाब से दरें तय करना होगा। इस फॉर्मूले के तहत बैंकों को नियमित तौर पर फंड की लागत निकलनी होगी और लागत कम होने पर उसका फायदा ग्राहकों को देना होगा। पहले ब्याज दरें बेस रेट के हिसाब से तय होती थी लेकिन अब ये एमसीएलआर के अाधार पर तय होगी।


मॉर्जिनल कॉस्ट ऑफ लेंडिंग फॉर्मूला लागू होने का ही असर है कि स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने कर्ज सस्ता किया है। आइए आपको बताते है कि इससे आपकी ईएमआई कितनी कम होगी। मान लीजिए आपने 50 लाख का होम लोन 20 साल के लिए लिए है। पुरानी ब्याज दर 9.55 फीसदी के हिसाब से ईएमआई बैठती है 46,770 रुपये लेकिन नई ब्याज दर 9.45 फीसदी होने के बाद आपकी नई ईएमआई हो जाएगी 46,443 रुपये यानी हर महीने 327 रुपये की बचत


वीडियो देखें