Moneycontrol » समाचार » फाइनेंशियल प्लानिंग

योर मनी: कैसे करें बच्चों की फाइनेंशियल प्लानिंग

प्रकाशित Thu, 18, 2016 पर 12:06  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

वो सपने ही क्या जिन्हे आप जी ना पाएं। जितनी उंची सपनों की उडान, उतनी लंबी निवेश की रणनीति, लेकिन इसका मतलब ये थोडी है के आप सपने देखना छोड दें। थोडा है और थोडे की जरूरत को पूरा करने के लिए हाजिर है आपका फाइनेंशियल गाइड योर मनी। योर मनी में आपके सवालों का जवाब दे रहे हैं ओए पैसा के उदय धूत


योर मनी में यहां आपके सबसे अगम गोल की प्लानिंग यानी आपके बच्चों के बेहतर भविष्य की प्लानिंग की जा रही है। बच्चों को पढ़ाना लिखाना तो आपकी जिम्मेदारी होती ही है, लेकिन उनके सुनहरे भविष्य की ओर पहला कदम आप कैसे बढा सकते हैं, सबसे पहले इसी पर करते हैं चर्चा।


बच्चों के लिए जल्दी ही निवेश की शुरुआत करना काफी फायदेमंद होता है। नियमित आधार पर छोटी राशि से बचत की शुरुआत करें। बच्चे के लक्ष्य के आधार पर निवेश करनी चाहिए। अपने बच्चे के नाम से अलग से निवेश करना चाहिए। जिसके लिए सबसे पहले बच्चे के नाम पर अलग खाता खुलवाएं। ऐसे करने से आपके दिमाग में भी एक अलग से खाता खुल जाता है और आपको अपनी जिम्मेदारी का एहसास बना रहता है। बता दें कि 10 साल से ज्यादा उम्र के बच्चे अपना खाता खुलवा सकते हैं। खाता खुलवाने के लिए जन्म प्रमाण तिथि, जन्म पंजीकरण जरूरी होता है।


उदय धूत के मुताबिक बच्चे के लिए निवेश की प्लानिंग करते समय अपने खर्चें और महंगाई को ध्यान में रखें। बच्चों की पढ़ाई का खर्चा बहुत तेजी से बढ़ रहा है। ऐसे में आपका निवेश भी ऐसा होना चाहिए जो तेजी से बढ़े। उदय धूत के मुताबिक बच्चों के लक्ष्य के आधार पर किए जाने वाले निवेश पोर्टफोलियो में इक्विटी का हिस्सा ज्यादा होना चाहिए। बच्चों के लिए एसआईपी के जरिए निवेश करना बहुत अच्छा निवेश विकल्प है।


वीडियो देखें