Moneycontrol » समाचार » फाइनेंशियल प्लानिंग

योर मनीः गिरते बाजार में बने कमाई के बादशाह

प्रकाशित Sat, 15, 2016 पर 13:04  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

बाजार की गिरावट को देखकर जाहिर है किसी भी निवेशक के मन में अपने निवेश को लेकर कई सवाल आते हैं। निवेश में बने रहें या निकल जाएं, इस असमंजस में कई बार निवेशक गलत फैसला भी ले लेते हैं। लेकिन आज योर मनी आपकी इसी उलझन को दूर करेगा। हम आपको बताएंगें, की गिरते बाजार में भी आप कैसे बन सकते हैं कमाई के बादशाह। तो आइए एटिका वेल्थ एड्वाइजर के चीफ फाइनेंशियल प्लानर निखिल कोठारी से जानते हैं कि बाजार कि गिरावट में निवेशक क्या करें और कैसे युवा अपनी फाइनेंशियल प्लानिंग करें। 


एटिका वेल्थ एड्वाइजर के चीफ फाइनेंशियल प्लानर निखिल कोठारी का कहना है कि निवेशकों को बाजार की गिरावट से ना घबराते हुए निवेश करना चाहिए। बाजार की गिरावट में एसआईपी के जरिए अपना निवेश जारी रखना चाहिए। उतार-चढ़ाव के दौरान एसआईपी निवेश का सबसे अच्छा जरिया है। उतार-चढ़ाव के दौरान निवेश से एवरेजिंग का फायदा मिलता है। नए निवेशक गिरावट पर एसआईपी शुरू कर सकते हैं। गिरावट में निवेश से फंड की ज्यादा यूनिट मिलती है।


युवाओं के लिए फाइनेंशियल प्लानिंग के गुरूमंत्र देते हुए निखिल कोठारी ने कहा कि निवेश की शुरुआत जल्द करने से ज्यादा फायदा मिलता है। युवाओं पर जिम्मेदारी का बोझ कम रहता है और उनके पास निवेश के लिए पैसा भी ज्यादा होता है। तो युवाओं को सबसे पहले इमरजेंसी के लिए फंड बनाना चाहिए। और फिर उसके बाद मध्यम और लंबी अवधि के लक्ष्य के लिए निवेश शुरु कर देना चाहिए। युवाओं को इमरजेंसी के लिए लिक्विड फंड में पैसा लगाना चाहिए। युवा 70 फीसदी पैसा इक्विटी में लगाए और बाकी डेट में निवेश करें। साथ ही खुद के लिए पर्याप्त मेडिकल और लाइफ इंश्योरेंस जरुर लें। इक्विटी में सीधे निवेश की बजाय एसआईपी करना ज्यादा बेहतर होगा।


सवालः उम्र 23 साल है। 4-5 साल के लिए म्युचुअल फंड में 8 लाख रुपये का निवेश करना है, पैसा कहां लगाएं? शादी के लिए कहां निवेश करना चाहिए?


निखिल कोठारीः जोखिम लेने की क्षमता के हिसाब से निवेश करें। 4-5 साल के निवेश के लिए एमआईपी एक बेहतर विकल्प होगा। बैलेंस फंड में भी निवेश कर सकते हैं। बैलेंस फंड में इक्विटी फंड जैसी ही टैक्स छूट मिलती है। आप एचडीएफसी बैलेंस फंड या एसबीआई मैग्नम बैलेंस फंड देख सकते हैं।


सवालः उम्र 19 साल है। शेयर मार्केट में ट्रेडिंग करके 5000 रुपये प्रति माह कमाना है, क्या करें? बाजार में सीधे निवेश से कितना फायदा होगा


निखिल कोठारीः शेयर ट्रेडिंग में जोखिम ज्यादा होता है। शेयर ट्रेडिंग की बजाए आप एसआईपी के जरिए इक्विटी म्युचुअल फंड में निवेश करें। शुरुआत में एसआईपी में 500-1000 रुपये प्रति माह का निवेश करें। इक्विटी फंड में 40 साल तक 1000 रुपये प्रति माह के निवेश से 1.17 करोड़ रुपये जमा हो सकते हैं। आप बिड़ला सनलाइफ फ्रंटलाइन इक्विटी या कोटक सेलेक्ट फोकस फंड देख सकते हैं।