Moneycontrol » समाचार » फाइनेंशियल प्लानिंग

योर मनीः नया बिजनेस, कैसे जुटाएं पैसे!

प्रकाशित Sat, 05, 2018 पर 15:57  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

योर मनी आपको देता है सही निवेश करने के लिए गाइडेंस, निवेश रणनीति कैसे बनाई जाए ताकि आपके सपने पूरे हो सकें, युवा निवेशकों को सही दिशा दिखाते हुए उनकी सहीं फाइनेंशियल प्लानिंग करना भी इस शो का मकसद है, बहुत से लोग अपनी उलझन सुलझाना चाहते हैं और इसी लिए हम लाते हैं आपके लिए एक से बढ़कर एक टिप्स, और इसमें हमारा साथ देतें है कुछ एक्सपर्ट्स, आज मेरा साथ देने के लिए स्टूडियो में मौजूद हैं 5nance.com के फांउडर एंड सीईओ दिनेश रोहिरा।


सवालः लार्जकैप में हर महीने 3,000 रुपये, मिडकैप में 2,000 प्रति माह, मल्टीकैप में 3,500 रुपये, स्मॉलकैप में 2,000 प्रति माह और
बैलेंस्ड फंड में हर महीने 2,500 निवेश करना है। बिजनेस के लिए कैसे जुटेगी रकम? लक्ष्य के मुताबिक फंड्स पर सलाह दें। क्या तय निवेश और अवधि लक्ष्य के लिए सही?क्या निवेश पर कोई टैक्स देना होगा?


दिनेश रोहिराः जल्दी निवेश करना बेहद फायदेमंद होता है। लंबी अवधि के लिए लक्ष्य और रकम तय करना सही है। पोर्टफोलियो में डायवर्सिफिकेशन के लिए अलग-अलग फंड्स चुनें। 15 साल में 1 करोड़ रुपये के लिए हर महीने 15,000 रुपये निवेश जरूरी है। हर महीने 7,000 रुपये निवेश पर 20 साल में 1 करोड़ रुपये मिल सकते है। आय बढ़ने पर निवेश रकम भी बढ़ाएं और लंबी अवधि के लिए ग्रोथ विकल्प चुनें। 1 साल से ज्यादा लंबे निवेश पर एलटीसीजी टैक्स 1 लाख से ज्यादा मुनाफा होने पर 10 फीसदी एलटीसीजी टैक्स लगता है। हर साल फंड के प्रदर्शन की समीक्षा करें।


सवालः एचडीएफसी क्लिक टू प्रोटेक्ट टर्म 50 लाख प्लान है,।पिछले 6 साल से प्रीमियम अदा किया है, 1.5 करोड़ का टर्म प्लान लेना है।
क्या पिछला टर्म प्लान जारी रखते हुए सिर्फ 1 करोड़ का नया टर्म प्लान लें? क्या एचडीएफसी क्लिक टू प्रोटेक्ट से निकलें?नया टर्म प्लान किस कंपनी का लें?


दिनेश रोहिराः पहले लिया हुआ टर्म प्लान बंद ना करें। एचडीएफसी क्लिक टू प्रोटेक्ट एक बेहतरीन प्लान है। एचडीएफसी क्लिक टू प्रोटेक्ट का सेटलमेंट रेश्यो 97 फीसदी है। नए टर्म प्लान पर प्रीमियम अब की उम्र के हिसाब से ज्यादा होगा। प्रीमियम के आधार पर फैसला ले सकते हैं। 1 करोड़ का नया टर्म प्लान लें। एचडीएफसी या आईसीआईसीआई प्रु. से टर्म इंश्योरेंस लें। क्लेम सेटलमेंट रेश्यो के हिसाब से कंपनी चुनें।