Moneycontrol » समाचार » फाइनेंशियल प्लानिंग

योर मनी: मालामाल केंद्रीय कर्मचारी, कहां करें निवेश

प्रकाशित Thu, 30, 2016 पर 12:11  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

7वें वेतन आयोग आने से लगभग 1 करोड़ केंद्रीय कर्मचारियों के हाथ में आएगी मोटी कमाई। लेकिन साथ ही तैयार होगी खर्चों की लंबी लिस्ट और भविष्य की ढेर सारी प्लानिंग। लेकिन जहा ठहरिए, इन पैसों को आप कहां समझदारी से निवेश करें, खर्च करें,योर मनी की आज की इस खास पेशकश को देखें और फिर निर्णय लें। योर मनी की के इस खास शो आपको सलाह दे रहे हैं फाइनेंशियल प्लानर अर्णव पंड्या और ओए पैसा डॉट कॉम के उदय धूत।


केंद्रीय कर्मचारियों को मोदी सरकार ने बड़ा तोहफा दिया है। कैबिनेट ने 7वें वेतन आयोग को लागू करने का फैसला किया है। बेसिक सैलरी में 2.57 गुना बढ़ोतरी हुई है। न्यूनतम सैलरी 7000 से बढ़कर 18000 हो गई है। जबकि अधिकतम वेतन 90,000 हजार से बढ़कर 2.56 लाख रुपये हो गया है। वित्त मंत्री ने कहा है कि 7वें वेतन आयोग की पे और पेंशन से जुड़ी सभी सिफारिशें मंजूर कर ली है। ग्रेच्युटी भी 10 लाख से बढ़ाकर 20 लाख रुपये हो गई है। सरकार के इस फैसले से केंद्र सरकार के करीब 1 करोड़ कर्मचारियों और पेंशनरों को फायदा मिलेगा। सिफारिशें लागू होने से सरकारी खजाने पर 1.02 लाख करोड़ रुपये का बोझ पड़ेगा। ये बढ़ा हुआ वेतन केंद्रीय कर्मचारियों को 1 जनवरी 2016 से मिलेगा। जानकारों का मानना है कि वेतन बढ़ोतरी से इकोनॉमी में 1 लाख करोड़ रुपये आएंगे जिससे कंज्यूमर ड्यूरेबल, गाड़ियों, घरों की मांग बढ़नी संभव है।


अब सवाल ये है कि बढ़ी सैलरी के मुताबिक अपनी फाइनेंशियल प्लानिंग कैसे करें। जानकारों की राय है कि सबसे पहले को आप अपना कर्ज घटाएं, क्रेडिट कार्ड और पर्सनल लोन चुकाएं, एकमुश्त पैसे से होम लोन का प्रिंसिपल चुकाएं। इसके अलावा एक इमरजेंसी फंड बनाएं। 3 महीने के खर्च बराबर पैसा लिक्विड फंड में लगाएं। जानकारों का कहना है कि सरकारी ग्रुप इंश्योरेंस पर्याप्त नहीं होता। इसलिए खुद के लिए पर्याप्त टर्म कवर लें। आपको अपनी सालाना आय के 10 गुना बराबर टर्म प्लान लेना चाहिए। खुद के और परिवार के लिए हेल्थ प्लान लें।


जानकारों के मुताबिक अगर लक्ष्य के लिए निवेश पर्याप्त नहीं है तो उसे बढ़ाएं। निवेश के लिहाज से प्रॉपर्टीज में निवेश से बचें। हां, आप खुद के उपयोग के लिए प्रॉपर्टी खरीद सकते हैं। ब्याज घटने के आसार को देखते हुए डेट में निवेश के मौके हैं। इसके अलावा पेंशन फंड में निवेश बढ़ाने पर विचार करें। खर्च की प्लानिंग पर जानकारों का राय है कि निवेश करने के बाद खर्च के बारे में सोचें। आपको कई ऑफर मिलेंगे, सोच-समझकर खरीदारी करें।


वीडियो देखें