Moneycontrol » समाचार » फाइनेंशियल प्लानिंग

योर मनी: क्यों करें स्मॉल सेंविंग स्कीम में निवेश!

प्रकाशित Sat, 30, 2017 पर 17:17  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

योर मनी में निवेश की शुरुआत से लेकर पोर्टफोलियो के बैलेंसिंग तक तमाम उलझनों का जवाब दिए जाएगें। कहां निवेश करने पर आपको मिलेगा मोटा मुनाफा और किन फंड्स में लंबी अवधि के लिए बने रहने पर होगी अच्छी कमाई, ये सब बताने के लिए हमारे साथ जुड़ गए हैं ओय पैसा के फाउंडर उदय धूत।


लेकिन उससे पहले ये जानना जरूरी है कि अगर आपने पीपीएफ, सुकन्या समृद्धि योजना जैसी छोटी बचत योजनाओं में निवेश कर रहे हैं तो अब आपको इन पर कम ब्याज मिलेगा। सरकार ने स्मॉल सेविंग स्कीम पर जनवरी से मार्च तिमाही के लिए ब्याज दरों में 0.2 फीसदी की कटौती की है। स्मॉल सेविंग स्कीम में सीनियर सिटिजन सेविंग स्कीम के अलावा बाकी सभी स्कीमों जैसे कि नेशनल सेविंग स्कीम, टर्म डिपॉजिट पीपीएफ, सुकन्या समृद्धि योजना पर दरें घटा दी गई हैं। आपको बता दें कि सरकार हर तिमाही इन पर ब्याज दरें बदलती है। आज हम समझेंगे कि इन छोटी बचत योजनाओं से किस तरह के लक्ष्यों के लिए निवेश कर सकते हैं या किन लोगों के लिए इन योजनाओं में निवेश फायदेमंद है।


स्मॉल सेंविंग स्कीम में निवेश पर सरकार की तरफ से हर तिमाही दरें तय होती हैं। देश के सभी इलाकों में इनकी सुविधा है। नेशनल सेविंग स्कीम और पीपीएफ में निवेश पर टैक्स बचत होती है। इनमें बाकी निवेश विकल्पों के मुकाबले दरों में बदलाव कम होता है। इनके लिए बाजार की जानकारी होना जरूरी नहीं है। लेकिन जानकारों का सलाह है कि सिर्फ छोटी बचत योजनाओं पर निर्भर ना रहें। लंबी अवधि के लिए बाकी विकल्पों में भी निवेश जरूरी होता है। बड़े कॉर्पस के लिए सिर्फ स्मॉल सेविंग स्कीम काफी नहीं है। 2-5 साल के लक्ष्य के लिए निवेश करें।