Moneycontrol » समाचार » बाजार आउटलुक- फंडामेंटल

कंसोलिडेशन के दौर में जाएगा बाजार, सतर्क रहें खरीदार

प्रकाशित Wed, 14, 2017 पर 10:45  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

एनविजन कैपिटल के एमडी और सीईओ सीईओ नीलेश शाह का कहना है कि लगातार तेजी की ओर बढ़ता बाजार और मौजूदा वेल्युएशन को ध्यान में रखते हुए इन स्तरों पर थोड़ा सतर्क होना जरुरी है। बाजार कंसोलिडेशन के दौर में जा सकता है, क्योंकि अब भी कंपनियों के नतीजे बहुत ज्यादा मजबूत नहीं रहे हैं।

जीएसटी भी लागू होने वाला है तो उसका असर भी कंपनियों के वॉल्यूम पर दिख सकता है। इन सभी फैक्टर्स को ध्यान में रखते हुए लगता है कि बाजार कुछ हफ्तो या महीनों के लिए कंसोलिडेशन के दौर में जा सकता है। लेकिन 2-3 महीनों के कंसोलिडेशन के बाद बाजार दोबारा तेजी का रुख पकड़ सकता है।


नीलेश शाह के मुताबिक आईटी कंपनियों की बैलेसशीट और कैश फ्लो मजबूत है। अगले 1-2 साल में बड़ी आईटी कंपनियां अच्छे रिटर्न दे सकती है। निवेशकों को आईटी सेक्टर पर निगेटीव नहीं होना चाहिए और इस सेक्टर में अलग-अलग कंपनियों में समझदारी से पैसे लगाने चाहिए। आईटी कंपनियां अभी ठीक-ठाक वैल्युएशन पर मौजूद है। सरकारी बैंकों के लिए एनपीए की चुनौती सबसे बड़ी है। और फार्मा में 2-3 तिमाही तक चुनौतियां बनी रहेगी।