Moneycontrol » समाचार » बाजार आउटलुक- फंडामेंटल

बाजार में फिर आएगी तेजी, नतीजों से मिलेगा सहारा

प्रकाशित Wed, 15, 2017 पर 11:22  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

बाजार की आगे की चाल और दिशा पर बात करते हुए कोटक म्युचुअल फंड के फंड मैनेजर पंकज टिबरेवाल ने कहा कि पिछले 2-3 तीन साल से बाजार में एमएफ की भागीदारी बढ़ रही है। ये एक लॉन्ग टर्म ट्रेंड है जो आगे भी बना रहेगा। अभी बाजार में थोड़ा कंसोलीडेशन या मुनाफा वसूली देखने को मिल रही है। बाजार पर अब बढ़ती महंगाई और तेल की कीमतों में बढ़त का असर दिख रहा है। महंगाई बढ़ने से ब्याज दरें घटने की संभावना कम हुई है।


पंकज टिबरेवाल का कहना है कि म्युचुअल फंड में निवेश बढ़ने से बाजार को सहारा मिला है। हालांकि, आगे कुछ समय के लिए बाजार में बिकवाली जारी रहने के संकेत हैं। अब बाजार की नजर अच्छा प्रदर्शन कर रही कंपनियों पर होगी। जिन कंपनियों के नतीजे अच्छे रहेंगे बाजार उन्हीं को तवज्जो देगा। कंपनियों के नतीजों में सुधार बहुत जरूरी है।


गुजरात चुनावों के बाजार पर असर पर बात करते हुए पंकज टिबरेवाल ने कहा कि इस तरह के पोलिटिकल इवेंट्स का लंबी अवधि के नजरिए से निवेश करने वालों पर कोई खास असर नहीं होता। लेकिन अगर ट्रेडिंग के नजरिए से देखें तो इस इवेंट के दौरान मौका मिलनें पर पैसा लगाया जा सकता है।


पंकज टिबरेवाल ने कहा की भारतीय इकोनामी में सुधार के संकेत आने शुरु हो गए हैं। अगर इस तिमाही के कंपनियों के कॉन्फ्रेंस काल सुने तो साफ है कि कई कंपनियां जो इंफ्रा और कैपिटल गुड्स में काम करती हैं उनमें सुधार दिख रहा है और उनको सरकार के इंफ्रा पर फोकस से फायदा हो रहा है। लंबी अवधि में कंपनियों की आय और मुनाफा ही उनकी वैल्यू बढ़ाएगा।