Moneycontrol » समाचार » बाजार आउटलुक- फंडामेंटल

नतीजों में सुधार की जरूरत, चिंताजनक नहीं एफआईआई की बिकवाली

प्रकाशित Thu, 31, 2017 पर 10:45  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

मैक्स लाइफ इंश्योरेंस के डायरेक्टर और सीआईओ, मिहिर वोरा का कहना है कि ग्लोबल चिंताओं के चलते घरेलू बाजारों में अनिश्चितता का माहौल है। जियो पॉलिटिकल चिंता बढ़ती है तो शेयर बाजारों में उतार-चढ़ाव का माहौल मुमकिन है। हालांकि घरेलू बाजारों में वैल्युएशन को लेकर ज्यादा चिंता है। दरअसल जिस तरह के वैल्युएशन अभी हैं उस तरह से कंपनियों के नतीजे नहीं रहे हैं। लिहाजा वैल्युएशन को बनाए रखने के लिए कंपनियों के नतीजों में बेहतर सुधार की जरूरत है।


मिहिर वोरा के मुताबिक एफआईआई की ओर से सिर्फ भारतीय बाजारों में बिकवाली नहीं की जा रही है, बल्कि सभी इमर्जिंग मार्केट्स में बिकवाली हो रही है। दरअसल अमेरिका की इकोनॉमी में जिस तरह से बेहतर ग्रोथ का अनुमान है और यूरोप की इकोनॉमी में स्थिरता दिख रही है, ऐसे में कई सालों से अंडरवेट रहे डेवलप मार्केट्स अब एफआईआई के रडार पर हैं। हालांकि एफआईआई की इस बिकवाली से ज्यादा चिंतित होने की जरूरत नहीं है। भले ही इक्विटी में बिकवाली हावी है, लेकिन एफआईआई की ओर से भारत के डेट मार्केट में काफी खरीदारी की जा रही है। एफआईआई के लिए भारत का डेट मार्केट काफी आकर्षक बना हुआ है।