सोच-समझकर लगाएं दांव, मुश्किलों में फार्मा-आईटी सेक्टर -
Moneycontrol » समाचार » बाजार आउटलुक- फंडामेंटल

सोच-समझकर लगाएं दांव, मुश्किलों में फार्मा-आईटी सेक्टर

प्रकाशित Fri, 21, 2017 पर 11:07  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

मार्केट एक्सपर्ट उदयन मुखर्जी का कहना है कि फार्मा शेयरों के वैल्यूएशन काफी हद तक नीचे आए हुए है। फार्मा सेक्टर में यूएसएफडीए की मुश्किले नई नहीं है। लेकिन इन खराब खबरों का सिलसिला खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है तो ऐसे माहौल में दोबारा भरोसा लौटना मुश्किल है। जब तक यूएसएफडीए से खराब खबरों का सिलसिला खत्म नहीं होगा तब तक शायद फार्मा सेक्टर में अर्थपूर्ण रिकवरी देखने को नहीं मिलेगी। खराब खबरें रुकने पर ही सन फार्मा में खरीदारी लौटती नजर आएगी।


उदयन मुखर्जी के मुताबिक आईटी सेक्टर में ग्रोथ नहीं है, इनमें फंडामेंटल बिजनेस मॉडल की दिक्कत है। इस साल यानी वित्त वर्ष 2018 में काफी मुमकिन है कि इंफोसिस जैसी कंपनी अर्निंग शेयर पर जीरो ग्रोथ दिखाए और टीसीएस जैसी कंपनी में शायद 4-5 फीसदी ईपीएस ग्रोथ हों। इंफोसिस यहां से नीचे फिसल सकता है और टीसीएस सपाट रह सकता है। टीसीएस में तेजी मुश्किल है, इसमें खरीदारी करना ठीक नहीं है। टेक महिंद्रा और एचसीएल टेक इन 2 कंपनियों के अभी नतीजे देखने पड़ेंगे और सोचना पड़ेगा कि अगर इंफोसिस, टीसीएस, विप्रो नहीं लेंगे तो क्या टेक महिंद्रा और एचसीएल टेक को इंवेस्टमेंट कैटगरीज में रखने के बारे में सोच सकते हैं। आईटी सेक्टर इस साल अंडरवेट रहने की संभावना है।


उदयन मुखर्जी का कहना है कि प्राइवेट बैंक के लिए जेपी एसोसिएट्स की मुश्किल बड़ी है, लेकिन अभी घबराने की जरुरत नहीं है, बल्कि थोडा सतर्क हो जाएं। रियल्टी में मंदी का दौर खत्म होने का वक्त आ गया है। रियल्टी में शेयरों का चुनाव सोच-समझकर करना होगा।