Moneycontrol » समाचार » चर्चित स्टॉक खबरें

आप ना रहें बेखबर, ये हैं आज के चर्चित शेयर

प्रकाशित Wed, 09, 2017 पर 08:41  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

शेयरों की हर हलचल पर पैनी नजर रखकर अपने निवेश को सुरक्षित जरूर किया जा सकता है। यहां हम बता रहे हैं ऐसे शेयर जो रहेंगे आज खबरों में और जिन पर होगी बाजार की नजर।


जेएसपीएल


वित्त वर्ष 2018 की पहली तिमाही में जेएसपीएल को 420.5 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है। वित्त वर्ष 2017 की पहली तिमाही में जेएसपीएल को 1238.1 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था।


वित्त वर्ष 2018 की पहली तिमाही में जेएसपीएल की आय 19.6 फीसदी बढ़कर 6126.6 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है। वित्त वर्ष 2017 की पहली तिमाही में जेएसपीएल की आय 5124.7 करोड़ रुपये रही थी।


साल दर साल आधार पर अप्रैल-जून तिमाही में जेएसपीएल का एबिटडा 1015 करोड़ रुपये से बढ़कर 1352.7 करोड़ रुपये रहा है। सालाना आधार पर अप्रैल-जून तिमाही में जेएसपीएल का एबिटडा मार्जिन 21.7 फीसदी से बढ़कर 23.9 फीसदी रहा है।


सन फार्मा


साल दर साल आधार पर अप्रैल-जून तिमाही में सन फार्मा की इजरायल की सब्सिडियरी टारो का मुनाफा 10.99 करोड़ डॉलर से 50 फीसदी घटकर 5.45 करोड़ डॉलर हो गया है। सालाना आधार पर अप्रैल-जून तिमाही में टारो की बिक्री 23.38 करोड़ डॉलर से 31 फीसदी घटकर 16.13 करोड़ डॉलर रही है।


सालाना आधार पर अप्रैल-जून तिमाही में टारो की ऑपरेटिंग आय 14.26 करोड़ डॉलर से 45 फीसदी घटकर 7.76 करोड़ डॉलर रही है। सालाना आधार पर अप्रैल-जून तिमाही में टारो का ऑपरेटिंग मार्जिन 61 फीसदी से घटकर 48.1 फीसदी रहा है।


टाटा केमिकल्स


वित्त वर्ष 2018 की पहली तिमाही में टाटा केमिकल्स का मुनाफा 13.6 फीसदी घटकर 178 करोड़ रुपये हो गया है। वित्त वर्ष 2017 की पहली तिमाही में टाटा केमिकल्स का मुनाफा 206 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2018 की पहली तिमाही में टाटा केमिकल्स की आय 20.1 फीसदी बढ़कर 2667 करोड़ रुपये रही है। वित्त वर्ष 2017 की पहली तिमाही में टाटा केमिकल्स की आय 3340 करोड़ रुपये रही थी।


हिताची


वित्त वर्ष 2018 की पहली तिमाही में हिताची का मुनाफा 11 फीसदी घटकर 62 करोड़ रुपये हो गया है। वित्त वर्ष 2017 की पहली तिमाही में हिताची का मुनाफा 69 करोड़ रुपये रहा था।


वित्त वर्ष 2018 की पहली तिमाही में हिताची की आय 4 फीसदी बढ़कर 935 करोड़ रुपये रही है। वित्त वर्ष 2017 की पहली तिमाही में हिताची की आय 896 करोड़ रुपये रही थी।


साल दर साल आधार पर अप्रैल-जून तिमाही में हिताची का एबिटडा 117 करोड़ रुपये से घटकर 104 करोड़ रुपये रहा है। सालाना आधार पर अप्रैल-जून तिमाही में हिताची का एबिटडा मार्जिन 14.3 फीसदी से घटकर 12 फीसदी रहा है।


रामकृष्ण फोर्जिंग / क्वेस कॉर्प


आरबीआई ने रामकृष्ण फोर्जिंग और क्वेस कॉर्प में एफपीआई निवेश की सीमा बढ़ा दी है।