Moneycontrol » समाचार » चर्चित स्टॉक खबरें

आज के खबरों वाले शेयर, बनी रहे नजर

प्रकाशित Mon, 12, 2018 पर 08:48  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

शेयरों की हर हलचल पर पैनी नजर रखकर अपने निवेश को सुरक्षित जरूर किया जा सकता है। यहां हम बता रहे हैं ऐसे शेयर जो रहेंगे आज खबरों में और जिन पर होगी बाजार की नजर।


एसबीआई


वित्त वर्ष 2018 की तीसरी तिमाही में एसबीआई को 2416 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है। वित्त वर्ष 2017 की तीसरी तिमाही में एसबीआई को 2,610 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ था। वहीं, वित्त वर्ष 2018 की तीसरी तिमाही में एसबीआई की ब्याज आय 26.7 फीसदी बढ़कर 18,687.5 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है। वित्त वर्ष 2017 की तीसरी तिमाही में एसबीआई की ब्याज आय 14,75 करोड़ रुपये रही थी।


तिमाही दर तिमाही आधार पर तीसरी तिमाही में एसबीआई का ग्रॉस एनपीए 9.83 फीसदी से बढ़कर 10.35 फीसदी रहा है। तिमाही आधार पर तीसरी तिमाही में एसबीआई का नेट एनपीए 5.43 फीसदी से बढ़कर 5.61 फीसदी रहा है।


टाटा स्टील


वित्त वर्ष 2018 की तीसरी तिमाही में टाटा स्टील का मुनाफा करीब 5 गुना बढ़कर 1,136 करोड़ रुपये हो गया है। वित्त वर्ष 2017 की तीसरी तिमाही में टाटा स्टील का मुनाफा 232 करोड़ रुपये रहा था। वहीं, वित्त वर्ष 2018 की तीसरी तिमाही में टाटा स्टील की आय 20.8 फीसदी बढ़कर 33,447 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है। वित्त वर्ष 2017 की तीसरी तिमाही में टाटा स्टील की आय 27,684 करोड़ रुपये रही थी।


सालाना आधार पर तीसरी तिमाही में टाटा स्टील का एबिटडा 3,636 करोड़ रुपये से बढ़कर 5,697 करोड़ रुपये रहा है। साल दर साल आधार पर अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में टाटा स्टील का एबिटडा मार्जिन 13.1 फीसदी से बढ़कर 17 फीसदी रहा है।


महिंद्रा एंड महिंद्रा


वित्त वर्ष 2018 की तीसरी तिमाही में महिंद्रा एंड महिंद्रा का मुनाफा 16.9 फीसदी बढ़कर 1,305.7 करोड़ रुपये हो गया है। वित्त वर्ष 2017 की तीसरी तिमाही में महिंद्रा एंड महिंद्रा का मुनाफा 1,116.8 करोड़ रुपये रहा था। वहीं, वित्त वर्ष 2018 की तीसरी तिमाही में महिंद्रा एंड महिंद्रा की आय 10.3 फीसदी बढ़कर 11,491.5 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है। वित्त वर्ष 2017 की तीसरी तिमाही में महिंद्रा एंड महिंद्रा की आय 10,420.4 करोड़ रुपये रही थी।


सालाना आधार पर तीसरी तिमाही में महिंद्रा एंड महिंद्रा का एबिटडा 1,475.6 करोड़ रुपये से बढ़कर 1,736 करोड़ रुपये रहा है।साल दर साल आधार पर तीसरी तिमाही में महिंद्रा एंड महिंद्रा का एबिटडा मार्जिन 14.2 फीसदी से बढ़कर 15.1 फीसदी रहा है।


ओएनजीसी


वित्त वर्ष 2018 की तीसरी तिमाही में ओएनजीसी का मुनाफा 2.3 फीसदी घटकर 5,014.7 करोड़ रुपये हो गया है। वित्त वर्ष 2018 की दूसरी तिमाही में ओएनजीसी का मुनाफा 5,130.7 करोड़ रुपये रहा था। वहीं, वित्त वर्ष 2018 की तीसरी तिमाही में ओएनजीसी की आय 21.3 फीसदी बढ़कर 22,995.9 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है। वित्त वर्ष 2018 की दूसरी तिमाही में ओएनजीसी की आय 18,964.9 करोड़ रुपये रही थी।


तिमाही आधार पर तीसरी तिमाही में ओएनजीसी का एबिटडा 9,136 करोड़ रुपये से बढ़कर 10,919.9 करोड़ रुपये रहा है। तिमाही दर तिमाही आधार पर तीसरी तिमाही में ओएनजीसी का एबिटडा मार्जिन 48.2 फीसदी से बढ़कर 47.5 फीसदी रहा है।


बीपीसीएल


वित्त वर्ष 2018 की तीसरी तिमाही में बीपीसीएल का मुनाफा 9.1 फीसदी घटकर 2,143.7 करोड़ रुपये हो गया है। वित्त वर्ष 2018 की दूसरी तिमाही में बीपीसीएल का मुनाफा 2,357.4 करोड़ रुपये रहा था। वहीं, वित्त वर्ष 2018 की तीसरी तिमाही में बीपीसीएल की आय 13.7 फीसदी बढ़कर 60,616.3 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है। वित्त वर्ष 2018 की दूसरी तिमाही में बीपीसीएल की आय 53,325.2 करोड़ रुपये रही थी।


तिमाही आधार पर तीसरी तिमाही में बीपीसीएल का एबिटडा 3,527.6 करोड़ रुपये से घटकर 3,188.2 करोड़ रुपये रहा है। तिमाही दर तिमाही आधार पर तीसरी तिमाही में बीपीसीएल का एबिटडा मार्जिन 6.6 फीसदी से बढ़कर 5.3 फीसदी रहा है।