Moneycontrol » समाचार » बीमा

बदल रहा है हेल्थ इंश्योरेंस, किस स्कीम से होगा फायदा!

प्रकाशित Fri, 03, 2017 पर 16:17  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

हेल्थ इंफ्लेश्न या कहे तो मेडिकल खर्चों की मंहगाई सालना 20 से 25 फीसदी से बढ रही है, इस से आप अंदाजा लगा सकते हैं की बीमारियों का खर्च आपकी जेब पर कितना भारी पड़ सकता है। क्या आपकी इंश्योरेंस पॉलिसी इस खर्च को उठाने में सक्षम है? या समय आ गया है की आप भले ही थोडा ज्यादा प्रीमीयम दें, लेकिन अपने आपको और अपने परिवार को इस खर्च से बचाकर या कवर करके रखे। योर मनी का आज का फोकस है इंश्योरंस  और मेरे साथ हैं ओए पैसा के फाउंडर उदय धूत।


बीएसई इन्वेस्टमेंट और अमेरिका की एबिक्स का ज्वाइंट वेंचर बीएसई-एबिक्स पर भी इंश्योरेंस पॉलिसी मिलेगी। एबिक्स दुनिया का सबसे बड़ा इंश्योरेंस एक्सचेंज होगा। भारत में इंश्योरेंस डिस्ट्रीब्यूशन नेटवर्क लाएंगे। एजेंट्स, स्टॉक ब्रोकर्स, फाइनेंशियल इंस्टीट्यूशन पॉलिसी दे सकेंगे। स्टॉक ब्रोकर्स को आईआरडीएआई से इंश्योरेंस ब्रोकिंग लाइसेंस लेना होगा। लाइफ, हेल्थ और अन्य इंश्योरेंस पॉलिसियां ऑनलाइन मिलेंगी। क्लेम सेटलमेंट की सुविधा भी ऑनलाइन होगी।


उदय धूत का कहना है कि बदलते वक्त के साथ हेल्थ इंश्योरेंस में भी कई बदलाव किए जा रहे है। पहले के मुकाबले अब पॉलिसी में ज्यादा बीमारियां शामिल होगी। ज्यादा प्रीमियम पर बीमारियों को कवर करने का दायरा भी बढ़ा है। कई इंश्योरेंस कंपनियों ने पहले की बीमारियों को भी शामिल किया। मेडिकल खर्च में सालाना 20 से 25 फीसदी का इजाफा हुआ है। साथ ही कैंसर और दिल की बीमारी का कवरेज भी पॉलिसी में शामिल किया जाता है।


उदय धूत के मुताबिक स्टार और एलाइड इंश्योरेंस का स्टार कैंसर गोल्ड पॉलिसी नई स्कीम है। इसमें पॉलिसी लेने से पहले हुए कैंसर को भी कवर  किया जाता है। कैंसर स्टेज 1 और 2 के लिए 5 लाख का कवर मिलता है जबकि पॉलिसी खरीदने के लिए मेडिकल स्क्रीनिंग जरूरी नहीं है।   
 
इंश्योरेंस पॉलिसी में कैसे कम हो प्रीमियम? इस पर उदय धूत का कहना है कि टॉप-अप पॉलिसी खरीदने से फायदा मिलता है। परिवार के लिए फ्लोटर प्लान लेकर टॉप-अप पॉलिसी पर प्रीमियम कम मिलता है। ज्यादा नो क्लेम बेनिफिट वाली पॉलिसी खरीदें। कई कंपनियां 1 साल में 25 से 100 फीसदी एनसीबी यानि नो क्लेम बेनिफिट का विकल्प देती है। सम इंश्योर्ड रीस्टोरेशन, रिचार्ज या रीफिल के विकल्प वाली पॉलिसी खरीदें। कई कंपनियां पिछले सम इंश्योर्ड को बिना अतिरिक्त प्रीमियम के दोबारा चालू करने का विकल्प देती हैं।


वहीं क्रिटिकल इलनेस से जूझ रहे लोगों के लिए स्पेशल पॉलिसी है। स्टार कार्डिएक केयर-दिल के रोगों से जुड़ी बीमारियों के लिए है। इसमें 60 साल से ज्यादा उम्र पर 33,000 के प्रीमियम पर 3 लाख का कवरेज मिलता है। इंसुलिन लेने वाले लोग अपोलो एनर्जी फॉर डायबिटीज पॉलिसी ले सकते हैं।