Moneycontrol » समाचार » बीमा

मोटर इंश्योरेंस के नए नियम, किन बातों का रखें ध्यान

प्रकाशित Thu, 24, 2017 पर 14:42  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

योर मनी पर आज हमारा फोकस है इंश्योरेंस पर। मोटर इंश्योरेंस को लेकर बहुत जरूरी बदलाव हुए हैं, जो आपको जानना जरूरी है। योर मनी आप आपको इन्ही बदलावों से रूबरू करवाएगा, और साथ ही मोटर इंश्योरेंस का क्लेम लेने की बारीकियों से आपको करवाएंगें वाकिफ। इस पर बात करने के लिए हमारे साथ मौजूद है डायरेक्टर रूंगटा सिक्योरिटीज हर्षवर्धन रूंगटा।


अब आप गाडी का इंश्योरेंस रिन्यू नही कर पाएंगें, अगर आपके पास वेलिड पॉल्यूएशन अंडर कंट्रोल सर्टिफिकेट यानि पीयूसी नही है तो। नए मोटर इंश्य़ोरेंस एक्ट के तहत अब बिना पीयूसी के मोटर इंश्योरेंस नहीं मिलेगा। सुप्रीम कोर्ट ने 10 अगस्त को आदेश दिया था। हर 6 महीने में पीयूसी एक्सपायर होता है।


50 हजार तक के मोटर इंश्योरेंस क्लेम को आप एक मोबाइल वीडियो के जरिए सेटल कर सकते हैं। आईसीआईसीआई लोम्बार्ड जनरल इंश्योरेंस ने अपने एप- Insure में एक नया फीचर InstaSpect लॉन्च किया है, जिसके जरिए आप गाडी का डैमेज शूट करके कंपनी को भेज सकते हैं।


इस एप के जरिए अब आप अपना इंश्योरेंस क्लेम कर सकते है। ऐप में InstaSpect फीचर से वीडियो शूट करें। 50 हजार तक का क्लेम वीडियो से मिल सकता है। मोटर इंश्योरेंस का क्लेम आसान किया। ऐप में वीडियो शूट करने की गाइडलाइंस दी गई है। वर्किंग हावर्स में ही ऐप की सूविधा उपल्ब्ध है। एक से वीडियो शूट होने पर, नज़दीकी वर्कशॉप में गाड़ी को भेजा जाएगा।


वहीं अगर आपको मोटर इंश्योरेंस का क्लेम करना है तो आईआरडीए थर्ड पार्टी क्लेम करने की सुविधा देगा। थर्ड पार्टी क्लेम के लिए पॉलिसी धारक एक्सीडेंट की पुलिस को जानकारी देनी होगी। इंश्योरेंस कंपनी को भी एक्सीडेंट के बारे में बताना होगा। दूसरे की गाड़ी से एक्सीडेंट हुआ तो उसकी भी डिटेल देनी होगी।


ऑन डैमेज क्लेम के तहत अब एक्सीडेंट की जानकारी देने के बाद सर्वे होगा। बिना पुलिस, कंपनी की इजाजत के गाड़ी एक्सीडेंट स्पॉट से ना हटाएं। कैशलेस सुविधा होने पर इंश्योरेंस कंपनी वर्कशॉप में पेमेंट करेगी।


गाड़ी चोरी होने का क्लेम के लिए गाड़ी चोरी की जानकारी पुलिस,इंश्योरेंस कंपनी और ट्रांसपोर्ट विभाग को दें। गाड़ी के जरूरी दस्तावेज तैयार रखें। पॉलिसी के दस्तावेज भी दिखाने होंगे। कार की चाबी इंश्योरेंस कंपनी को देनी होगी। इंश्योरेंस में क्लेम से जुड़ी जानकारी http://www.policyholder.gov.in/ पर मिल सकती है।
या http://www.policyholder.gov.in/ आईआरडीए की कंज्यूमर एजुकेशन वेबसाइट है।