Moneycontrol » समाचार » बीमा

योर मनीः सही बीमा दे सकता है सुरक्षा कवच

प्रकाशित Wed, 02, 2017 पर 13:09  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन की ताजा रिपोर्ट के मुताबिक दुनिया में 10 बीमारियां, जिन से सबसे ज्यादा लोगों की मौत होती है, वो हैं दिल का दौरा,या दिल से जुडी बीमारी, मधुमेह, टीबी, एचआईवी/एड्स, लंग कैंसर। ज़िंदगी का कुछ भरोसा नही। कब कहां से कहर बरपाए, इसे आप पता तो नहीं लगा सकते, लेकिन इसका सामना करने के लिए तैयार जरूर रह सकते हैं। और इसी तैयारी में आपकी मदद करता है बीमा। जीवन बीमा हो या हेल्थ बीमा। योर मनी कुछ खास बीमारियों के बीमा के बारे में बताएगा। मसलन कैंसर, हार्ट ट्रबल, डायबिटीज, डेंगू जैसे बीमारियों के लिए अलग से इंश्योरेंस पॉलिसी कहां से लें, और लेते वक्त किन बातों का ख्याल रखें। हमारे साथ मौजूद है बजाज कैपिटल के ग्रुप सीईओ अनिल चोपडा।


अनिल चोपडा का कहना है कि खास बीमारियों के लिए बीमा कवर लेना बेहद जरुरी है। जिसके लिए कुछ बीमा कंपनियां के चुनिंदा बीमारियों के प्लान भी मौजूद है। अलग बिमारियों के स्टार हेल्थ, अपोलो म्युनिख दे रही हैं। वहीं आदित्य बिड़ला भी बीमारियों का बीमा दे रही है। यह कंपनियां गंभीर बीमारियों के लिए अलग से बीमा दे रही है। स्टार हेल्थ कार्डिक केयर में दिल के दौरे का बीमा किया जाता है। इस पॉलिसी के अंतगर्त 65 साल तक के लोगों का बीमा किया जाता है। बीमा को लाइफटाइम रिन्यू कर सकते हैं। 90 दिन बाद पहले ही बीमारी भी कवर की जाती है।


अनिल चोपडा ने आगे बताया कि स्टार हेल्थ स्टार डाइबिटीज सेफ में टाइप 1 और टाइप 2 डाइबिटीज को कवर किया जाता है। इसमें 65 साल तक के लोगों का बीमा कवर किया जायेगा। इस बीमा पॉलिसी में भी लाइफटाइम रिन्यू कर सकते हैं।


अपोलो म्युनिख एनर्जी बीमा में डाइबिटीज और हाइपर टेंशन का कवर मिलता है। इस बीमा में 65 साल तक के लोगों का बीमा कवर किया जाता है जिसेलाइफटाइम रिन्यू कर सकते हैं।


वहीं आदित्य बिड़ला क्रॉनिक इलनेस प्लान में अस्थमा, बीपी, कोलेस्ट्रॉल, डायबिटीज को कवर किया जाता है। 3 महीने के बाद हॉस्पिटलाइजेशन कवर मिलता है। इस बीमा में ओपीडी, दवाएं, टेस्ट भी कवर मिलता है। हालांकि इस पॉलिसी में उम्र की सीमा तय नहीं की गई है।