योर मनीः होम लोन पर इंश्योरेंस की शर्त कितनी सही -
Moneycontrol » समाचार » बीमा

योर मनीः होम लोन पर इंश्योरेंस की शर्त कितनी सही

प्रकाशित Fri, 19, 2016 पर 13:35  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

वो सपने ही क्या जिन्हे आप जी ना पाएं। जितनी उंची सपनों की उडान, उतनी लंबी निवेश की रणनीति, लेकिन इसका मतलब ये थोडी है के आप सपने देखना छोड दें। थोडा है और थोडे की जरूरत को पूरा करने के लिए हाजिर है आपका फाइनेंशियल गाइड योर मनी। आइए योर मनी में जानते हैं एटिका वैल्थ मेनेजमेंट के एमडी एंड सीईओ गजेंद्र कोठारी से होम लोन और इंश्योरेंस की बारीकियां। साथ ही जानेंगे कैसा है अपोलो म्युनिख का क्रिटिकल एडवांटेज राइडर प्लान।
 
क्रिटिकल एडवांटेज राइडर

अपोलो म्युनिख की 10 लाख रु से ज्यादा की पॉलिसी पर राइडर मिलता है। राइडर में 8 गंभीर बीमारियां शामिल होती है। इलाज के साथ आने-जाने और रहने का खर्च भी शामिल होता है। इस नए प्लान के अंतर्गत दुनिया में कहीं भी इलाज पर यात्रा और रहने का खर्च मिलता है। इसमें सिर्फ पहले से प्लान इलाज के लिए सुविधा मिलेगी। गंभीर बीमारियों के लिए ये एक अच्छा प्लान है। 


सवालः डीएचएफएल ने होम लोन के साथ लोन के इंश्योरेंस की शर्त रखी है, जिसका खर्च 1 लाख रु है। लेकिन अगर पूरे लोन के बराबर टर्म इंश्योरेंस लेने में सिर्फ 12,000 रु प्रति साल देना होगा जिससे ईएमआई का बोझ कम होगा। कंपनी कह रही है लोन इंश्योरेंस जरूरी है, क्या करें?


गजेंद्र कोठारीः होम लोन के साथ इंश्योरेंस लेना जरूरी नहीं है। इंश्योरेंस ना लेने पर लोन की अर्जी खारिज नहीं कर सकते हैं। अगर अर्जी खारिज होती है तो आप लिखित में जवाब मांग सकते हैं। इस मामले में आप रेगुलेटर के पास जा सकते हैं। आप होम लोन के दूसरे विकल्पों पर भी विचार कर सकते हैं। लेकिन अगर कोई और विकल्प नहीं है तो कंपनी की शर्त मानना बेहतर होगा


सवालः मेरी उम्र 46 साल की है और मेरे पास अपोलो म्यूनिख हेल्थ पॉलिसी है। मैक्स बूपा की पॉलिसी में दिलचस्पी है। मैक्स बूपा में कैप्स नहीं। परिवार में माताजी है जिनकी उम्र 72 साल है। क्या उन्हें भी पॉलिसी में शामिल करना चाहिए।


गजेंद्र कोठारीः दोनों ही कंपनियों की पॉलिसी अलग-अलग मदों की सीमा नहीं है। पॉलिसी में कवर होने वाले में खर्च की डिटेल पॉलिसी डॉक्यूमेंट में होती है। मां के लिए आप फ्लोटर पॉलिसी ले सकते हैं।


वीडियो देखें