Moneycontrol » समाचार » बीमा

योर मनी: गंभीर बीमारियों के लिए कौन सा प्लान लें!

प्रकाशित Sat, 17, 2016 पर 14:21  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

योर मनी में आज का फोकस है इंश्योरेंस पर। जब हम मंहगाई की बात करते हैं, तो अक्सर खाने पीने की मंहगाई पर ही फोकस रहता है, लेकिन जब हम आपकी फाइनेंशियल प्लानिंग करते हैं तो किचन के बजट से लेकर, बच्चों की पढाई लिखाई और खासकर मेडिकल इफलेशन पर भी फोकस रहता है। आज योर मनी पर हम आपको बताएंगें, कैसे गंभीर और बडी बीमारियों के लिए इंश्योरेंस कंपनियो ने खास पॉलिसी निकाली है, और क्या इन्हे आपको खरीदना चाहिए। आज हमारे साथ हैं फाइनेंशियल प्लानर पूनम रूंगटा।


पूनम रूंगटा का कहना है कि गंभीर बीमारियों के इलाज पर भारी खर्च आता है औऱ दिनों-दिन गंभीर बीमारियों का इलाज महंगा हो रहा है। गंभीर बीमारियों के लिए सामान्य हेल्थ प्लान का कवर नाकाफी हो सकता है। जिसके लिए ज्यादा कवर की जरूरत होती है। गंभीर बीमारियों के लिए खास प्लान में एकमुश्त पैसा मिलता है। एकमुश्त भुगतान के अलावा इनकम बेनेफिट भी होता है और कई प्लान में बीमारी का पता चलने के बाद प्रीमियम नहीं लगता है।


डेंगू के लिए इंश्योरेंस प्लान


पूनम रूंगटा के अनुसार डेंगू के टेस्ट का चार्ज तकरीबन 5000-10000 रुपये तक होता है। वहीं अस्पताल में इलाज पर खर्च 35,000-70,000 अपोलो म्युनिख डेंगू केयर प्लान है। 10 हजार तक इलाज का कवर मिलेगा। इसमें सब-लिमिट या को-पेमेंट की शर्त नहीं होती है। इसमें 15 दिन का वेटिंग पीरियड होता है। अस्पताल में भर्ती होने के 15 दिन पहले और 15 दिन बाद के लिए कवर मिलता है। सभी उम्र के लोगों के लिए एक ही प्रीमियम मौजूद है।


कैंसर केयर प्लान
आईसीआईसीआई प्रुडेंशियल का कैंसर केयर प्लस प्लान है। एचडीएफसी लाइफ कैंसर केयर, एगॉन रेलिगेयर- आईकैंसर इंश्योरेंस प्लान और मैक्स लाइफ कैंसर प्लान मौजूद है।


अपोलो म्युनिख - डायबिटीज प्लान
अपोलो म्युनिख की टाइप-2 डायबिटीज के लिए इंश्योरेंस कवर ले सकते है। इस प्लान में कोई वैटिंग पीरियड नहीं होता है। इसमें पहले दिन से इलाज का खर्च मिलेगा और पहले की बीमारी पर 2-3 साल का वैटिंग पीरियड होता है।


मैक्स लाइफ कैंसर प्लान
सभी स्टेज के कैंसर के लिए कवरेज देता है औऱ बीमारी का पता चलने पर एकमुश्त भुगतान भी देता है। बीमारी का पता चलने पर आगे प्रीमियम माफ हो जाता है। एकमुश्त भुगतान के साथ 5 साल के लिए इनकम बेनेफिट मिलता है। हर साल 10 फीसदी की दर से कवर पर इंडेक्सेशन का फायदा मिलता है। टैक्स छूट का लाभ भी मिलता है।


क्रिटिकल इलनेस कवर
क्रिटिकल इलनेस कवर, गंभीर बीमारियों के लिए खास कवर मिलता है। इसमें बीमारी का पता चलने पर एकमुश्त भुगतान मिलता है। साथ में लिए मेडिक्लेम और हेल्थ पॉलिसी का लाभ भी मिलेगा।