Moneycontrol » समाचार » बीमा

बारिश का कहर, कैसे क्लेम करें इंश्योरेंस!

प्रकाशित Thu, 31, 2017 पर 13:49  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

मुंबई की बरसात ने इसकी रफ्तार पर ब्रेक लगा दी। जन-जीवन तो अस्त व्यस्त हुआ, जेब पर कई खर्चों का बोझ भी पड गया। बारिश ने कई कारों को बेकार कर दिया। अब इन कारों को दुरुस्त करवाने के लिए अच्छा खासा खर्च करना पड़ेगा। बारिश में घर को नुकसान होने वालों की भी यही टेंशन है। लेकिन जिन लोगों ने कार और होम इंश्योरेंस ले रखा है उनकी टेंशन जरूर थोड़ी कम होगी।  योर मनी पर आज गाडी और घर के इंश्योरेंस की एहमियत से आपको रूबरू करवाएंगें। योर मनी में हमारे साथ एटिका वैल्थ मैनेजमेंट के गजेंद्र कोठारी।


मुंबई में जो बरसात ने कहर बरपाया है, उसे देखकर बहुत जरूरी है के आपके पास सही गाडी और घर का इंश्योरेंस हो। जगह-जगह पानी भर जाने से गाडियां फंस गई, लोगों के घरों में पानी घुस गया। एसे में खर्चे का झटका तो आपको लगेगा ही, लेकिन क्या इस खर्च से बचा जा सकता था, सही बीमा लेकर। और अगर आपने घर और गाडी का इंश्योरेंस लिया है, तो कैसे उसे क्लैम करें। योर मनी का फोकस आज इसी पर है।


गजेंद्र कोठारी का कहना है कि जलभराव की स्थिति में गाड़ी चालू करने की कोशिश करने पर क्लेम नहीं मिलेगा। खराब हालत में भी गाड़ी चलाते रहने से क्लेम रिजेक्ट हो सकता है। इंजन में पानी घुसने पर इंश्योरेंस कंपनी को तुरंत बताएं। जरूरी जांच और रिपेयर के लिए डीलर से गाड़ी टो करवाएं। जिससे इंश्योरेंस कंपनी कार के पार्ट के हिसाब से क्लेम देगी। इंजन में पानी जाने की सूरत में क्लेम नहीं होता। इंजन खराब होने पर गाड़ी को टो करने का खर्चा मिलेगा साथ ही ब्रेक सिस्टम फेल होने पर क्लेम मिले गा।


गजेंद्र कोठारी ने आगे बताया कि ठीक इसी तरह प्रॉपर्टी पर क्लेम किया जा सकता है। पॉलिसी लेते वक्त क्लेम के लिए जरूरी कागजों के बारे में जानकारी लेना जरुरी है। इसलिए पॉलिसी की शर्तें ध्यान से पढ़ें। चोरी, आग लगने और बाढ़ से नुकसान की जानकारी पुलिस और अधिकारियों को देना जरूरी होता है। नुकसान की जानकारी इंश्योरेंस कंपनी को तुरंत दें। नुकसान की जांच के लिए कंपनी सर्वे कराएगी।


लेकिन पॉलिसी धारकों को क्लेम के लिए कुछ बातों का ध्यान रखना होगा। आप अपने नुकसान के आंकलन के कागज संभाल कर रखें। नुकसान के वीडियो और तस्वीरें संभाल कर रखें। क्लेम से जुड़े बिल और रसीदें रखें। घर को ठीक करने में इस्तेमाल में आए सामान की लिस्ट बनाकर रखें।