Moneycontrol » समाचार » बीमा

योर मनी: इंश्योरेंस और निवेश का समझें फर्क, होगा मुनाफा

प्रकाशित Wed, 04, 2017 पर 14:18  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

आप अपना निवेश अलग रखें और इंश्योरेंस अलग। योर मनी का ये एक बहुत बडा लक्ष्य है कि हम आपको ये समझाएं कि आप इंश्योरेंस को निवेश समझ कर पैसा ना लगाएं। जिसके लिए हम आपको निवेश के विकल्पों के बारें में समझाते हैं, और सही इंश्योरेंस पर सलाह देते हैं। योर मनी का फोकस इंश्योरेंस पर है और योर मनी पर हमारा साथ देने के लिए मौजूद हैं ओए पैसा के उदय धूत।


सवालः आईसीआईसीआई प्रु. एलीट लाइफ 2 में निवेश कर रहा हूं और 2,51,000 के दो प्रीमियम चुकाए हैं। टैक्स पर बचत के नजरिए से निवेश कर रहा हूं। पॉलिसी पर 4 फीसदी का रिटर्न मिल रहा है। क्या ईएलएसएस फंड में स्विच करें या पॉलिसी जारी रखें। साथ ही ईएलएसएस फंड के विकल्प पर सुझाव दें।


उदय धूतः पॉलिसी में इंश्योरेंस और निवेश दोनों किया जा सकता है। पॉलिसी पर 5 साल तक 4 फीसदी का प्रीमियम एलोकेशन चार्ज लगेगा और 5 साल बाद प्रीमियम एलोकेशन चार्ज 2 फीसदी हो जायेगा। पॉलिसी काफी महंगी है इसलिए रिटर्न कम मिलने की उम्मीद है। कम से कम 5 साल तक के लिए प्रीमियम भरना जरूरी है। पॉलिसी अभी सरेंडर करने पर 5 साल बाद ही रकम मिलेगी। 5 साल के पहले सरेंडर करने पर चार्ज भी लगेगा। म्यूचुअल फंड और टर्म प्लान में निवेश की सलाह होगी।


सवालः एलआईसी जीवन आनंद प्लान लिया है जो जनवरी 2015 से पॉलिसी जारी रहेगी। पॉलिसी सरेंडर करने पर जानकारी चाहिए?


उदय धूतः 3 साल प्रीमियम देने के बाद पॉलिसी कभी भी सरेंडर कर सकते हैं। सरेंडर करने पर कैश मिल सकता है लेकिन पॉलिसी सरेंडर करने पर प्रीमियम का सिर्फ 30-50 फीसदी हिस्सा मिलेगा।


सवालः 30 साल के बेटे के टर्म प्लान पर सलाह चाहिए। एगॉन के टर्म प्लान पर 50 साल का कवर मिल रहा है,क्या छोटी अवधि वाले प्लान चुनना बेहतर?


उदय धूतः कवर की रकम सही है। अपने लक्ष्य और खर्च के हिसाब से प्लान चुनें। लंबी अवधि का प्लान चुनना बेहतर होगा। कवर की जरूरत ना होने पर पॉलिसी रोक सकते हैं। आप 2 पॉलिसी में निवेश कर सकते हैं। बाद में किसी एक पॉलिसी में निवेश रोक सकते हैं। हालांकि उम्र के साथ प्रीमियम की रकम ज्यादा है।