जानें छोटी बचत योजनाओं की बारीकियां -
Moneycontrol » समाचार » निवेश

जानें छोटी बचत योजनाओं की बारीकियां

प्रकाशित Wed, 23, 2016 पर 11:17  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दरें कम करने से लोगों की मुश्किलें बढ़ीं तो हर 3 महीने में इंटरेस्ट रेट की समीक्षा को लेकर थोड़ा कंफ्यूजन भी बढ़ा। कई लोग ये पूछ रहे हैं कि हर तिमाही रेट तय होने से क्या लंबी मैच्योरिटी की उनकी बचत पर भी असर पड़ेगा? लेकिन हम लोगों का ये कंफ्यूजन दूर कर देते हैं।

ज्यादातर स्कीम में आपका रिटर्न पहले की तरह इसी बात से तय होगा कि पैसे लगाते वक्त ब्याज दरें क्या थीं। पब्लिक प्रोविडेंड फंड यानी पीपीएफ और सुकन्या समृद्धि योजना के मामले में इंटरेस्ट बदले रेट के हिसाब से ही कैलकुलेट किया जाएगा।


छोटी बचत योजनाओं की बारीकियां

फिक्स्ड डिपॉजिट पर ब्याज दरें हर तिमाही नहीं बदलेंगी। पैसे लगाते के वक्त जो ब्याज दर होगी उसी से मैच्योरिटी की रकम तय होगी। एनएससी, सीनियर सिटिजन, केवीपी, रेकेरिंग डिफॉजिट, टाइम डिपॉजिट पर भी ये दरें लागू होगी। सुकन्या समृद्धि योजना और पीपीएफ पर ब्याज दरें हर तिमाही बदलेगी। पहले से जमा रकम पर भी रिटर्न हर तिमाही के हिसाब से बदलता रहेगा।


वीडियो देखें