Moneycontrol » समाचार » निवेश

यूलिप में निवेश से बचेगा एलटीसीजी टैक्स!

प्रकाशित Wed, 07, 2018 पर 14:09  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

एलटीसीजी टैक्स लगने के बाद योर मनी आपको लगातार आपके निवेश पर सही रणनीति और एलटीसीजी का गणित समझा रहा है, और इसी कड़ी में आज हम आपको समझाएंगे कि कैसे यूलिप के जरिए आप एलटीसीजी टैक्स बचा सकते हैं, लेकिन क्या यूलिप में निवेश आपके निवेश स्ट्रेटेजी के तहत सही कदम होगा। योर मनी करेगा इसी की पड़ताल और आज हमारे साथ हैं सर्टिफाइड फाइनेंशियल प्लानर हर्षवर्धन रूंगटा।


हर्षवर्धन रूंगटा का कहना है कि यूलिप में एलटीसीजी टैक्स से बचने के लिए निवेश विकल्प चुनने का मापदंड तैयार करें और निवेश में आने वाला खर्च पर ध्यान दें। निवेश में होने वाला मुनाफा और जोखिम ध्यान देने की जरुरत है। साथ ही निवेश में मिलने वाली चलनिधि और टैक्स पर ध्यान दें।


यूलिप में निवेश में से 4-5 फीसदी प्रीमियम एलोकेशन चार्ज लगता है। इसमें लाइफ कवर के प्रीमियम पर मोर्टेलिटी चार्ज भी लगता है। साथ ही वहीं पॉलिसी एडमिनिस्ट्रेशन और फंड मैनेजमेंट चार्ज भी यूलिप में निवेश करने से लगता है।


यूलिप इंश्योरेंस और निवेश का मिक्स प्रोडक्ट है। अलग से टर्म इंश्योरेंस होने पर यूलिप की जरूरत नहीं होती है। म्यूचुअल फंड में केवल फंड मैनेजमेंट चार्ज लगता है। हर्षवर्धन रूंगटा का कहना है कि निवेशकों को सलाह होगी कि सिर्फ एलटीसीजी टैक्स से बचने के लिए यूलिप ना खरीदें। बल्कि निवेश और इंश्योरेंस को अलग रखें।