Moneycontrol » समाचार » निवेश

पहला कदम: जानिए क्या है पेंशन पॉलिसी

प्रकाशित Thu, 17, 2016 पर 11:43  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

पहला कदम के पिछले कई एपिसोड से आवाज़ ने चर्चा शुरू की है इंश्योरेंस की। उम्मीद है कि इंश्योरेंस से जुड़ी बुनियादी जानकारियां आपको मिल गई होंगी। फिर भी अगर आपके जेहन में कोई सवाल है तो आप हमें लिख सकते हैं सीएनबीसी आवाज के फेसबुक पेज पर या फिर हमारी वेबसाइट pehlakadam.in पर। आप एसएमएस के जरिए भी अपना संदेश हम तक पहुंचा सकते हैं। ना केवल इंश्योरेंस बल्कि निवेश से जुड़ा कोई भी सवाल आप हम तक पहुंचा सकते हैं। आज बात करते हैं इंश्योरेंस से ही जुड़े एक नए टॉपिक पेंशन पॉलिसी में निवेश पर।


पेंशन पॉलिसी में निवेश रिटायर्ड लोगों के लिए काफी फायदेमंद होता है। जानकारों की राय में कम उम्र में पेंशन पॉलिसी खरीदना बेहतर होता है। रिटायरमेंट पर मिले एक मुश्त पैसे को भी पेंशन पॉलिसी में निवेश किया जा सकता है। आपको बता दें कि एक मुश्त पैसा जमा करने पर पेंशन तुरंत शुरू हो सकती है। कम उम्र से ही पेंशन प्लानिंग करना बेहतर होता है। पेंशल की प्लानिंग  करते वक्त महंगाई का भी ख्याल रखें।


जानकारों की राय है कि पेंशन पॉलिसी लेते वक्त फाइनेंशियल प्लानर की मदद लेंष आपको अपनी जरूरत के हिसाब से पेंशन पॉलिसी लेनी चाहिए। पेंशन पॉलिसी में एन्यूटी धीरे -धीरे बढ़ाने का विकल्प होता है। एन्यूटी के चुनाव के विकल्प का फायदा उठाएं। बता दें कि 100 साल की उम्र तक एन्यूटी का विकल्प मिलता है। पति की मृत्यु के बाद पत्नी को भी एन्यूटी का भुगतान का विकल्प होता है। गौरतलब है कि पेंशन पॉलिसी पर टैक्स नहीं लगता लेकिन पेंशन पॉलिसी में रिटर्न बहुत ज्यादा नहीं मिलता। इसके लिए स्टेप अप पॉलिसी बेहतर विकल्प है।


आपको बता दें कि पेंशन पॉलिसी और एमआईपी यानि मंथली इनकम प्लान में अंतर होता है। एमआईपी म्युचुअल फंड प्लान है। जबकि पेंशन पॉलिसी इंश्योरेंस प्लान है। एमआईपी पर टैक्स लगता है। वहीं पेंशन प्लान पर टैक्स नहीं लगता।


वीडियो देखें